Kolkata मेयर की बेटी बोली- TMC समर्थक होने पर शर्मिंदा हूं

पश्चिम बंगाल में डॉक्टर्स की पिटाई का मामला तूल पकड़ता जा रहा है. देश भर के डॉक्टर्स जहां इस घटना के विरोध में आज (शुक्रवार) हड़ताल पर हैं. तो वहीं इस बीच कोलकाता मेयर फिरहाद हकीम की डॉक्टर बेटी शब्बा हकीम ने इसकी कड़ी निंदा की है.

डॉक्टर शब्बा हकीम ने कहा कि आज वो टीएमसी की समर्थक होने पर शर्मिंदा महसूस कर रही हैं. उन्होंने ममता सरकार पर निशाना साधते हुए फेसबुक पर एक पोस्ट में लिखा है कि डॉक्टरों के पास भी कार्यस्थल पर सुरक्षा तथा शांतिपूर्ण विरोध प्रदर्शन’ का अधिकार है. डॉक्टर शब्बा हकीम ने आगे लिखा कि TMC समर्थक होने के नाते इस हड़ताल पर कुछ नहीं किए जाने और अपने नेता की चुप्पी पर बेहद शर्मिंदा हूं.

डॉ. शब्बा ने लोगों से अपील की कि वे सरकार से सवाल करें कि गुंडे अभी भी अस्पतालों के आसपास थे क्यों घूम रहे हैं और डॉक्टरों की पिटाई क्यों कर रहे थे. उन्होंने लिखा कि सरकार से सवाल करना चाहिए कि सरकारी अस्पतालों में तैनात पुलिस अधिकारी डॉक्टरों की सुरक्षा के लिए क्यों कुछ भी नहीं करते हैं? उन रोगियों की क्या गलती है?

क्या है मामला

कुछ दिन पहले पश्चिम बंगाल एक अस्पताल में कथित तौर कुछ लोगों ने डॉक्टरों की पिटाई कर दी थी। जिसके बाद से नाराज डॉक्टर्स हड़ताल पर चले गए. पूरे देश में इस घटना का जमकर विरोध हो रहा है.

पता चला है कि डॉक्टरों पर योजना बनाकर हमला किया गया था. हमलावरों ने टेंगरा थाना इलाका के बीबी बागान लेन में घूम-घूम कर लोगों को एकत्रित किया था. कहा था, मोहल्ले की इज्जत का सवाल है. सबको चलना होगा. मारना जरूरी है.

कई लोगों ने आशंका व्यक्त की थी कि अगर डॉक्टरों से मारपीट हुई तो पुलिस पकड़ लेगी. तब जिन लोगों ने हमले के लिए लोगों को एकत्रित करना शुरू किया था उन्होंने कहा था कि मारपीट होने पर भी जमानती धाराओं में केस दर्ज होता है. सामूहिक हमले में कोई ऐसी धारा नहीं लगती इसलिए अगर कोई पकड़ा भी गया तो 24 घंटे के अंदर उसे जमानत पर छुड़ा लेंगे.

इस बीच सीएम ममता बनर्जी की पार्टी के मेयर फिरहाद हकीम की डॉक्टर शब्बा हकीम ने भी ममता सरकार का विरोध किया है.

Leave a Comment

%d bloggers like this: