KKR vs KXIP, IPL 2019: कोलकाता और पंजाब की भिड़ंत आज, वेस्टइंडीज के विस्फोटक खिलाड़ियों पर रहेगी नजरें

  • दोनों टीम वेस्टइंडीज के दमदार खिलाड़ियों से हैं सजी
  • वेस्टइंडीज के खिलाड़ियों की होगी आपस में टक्कर
  • कोलकाता की कमजोर तेज गेंदबाजी टीम के लिए सबसे बड़ी समस्या
  • मांकेडिंग विवाद को पीछे छोड़ बढ़िया खेल दिखाना चाहेंगे अश्विन

कोलकाता. आईपीएल में आज कोलकाता और पंजाब की टीमें आपस में टकराएंगी. कोलकाता अपने पहले मैच में सनराइजर्स हैदराबाद पर रोमांचक जीत करने के बाद आत्मविश्वास से लबरेज होगी. वहीं पंजाब के कप्तान रविचंद्रन अश्विन पहले मैच में ‘मांकेडिंग विवाद’ को पीछे छोड़कर ईडन गार्डन्स मैदान में जीत की लय को बरकरार रखना चाहेंगे.

ईडन गार्डन्स मैदान में कोलकाता और पंजाब की नज़रे अपने वेस्टइंडीज खिलाड़ियों पर होगी. जहां पंजाब की तरफ से क्रिस गेल शानदार फॉर्म में चल रहे है वहीं कोलकाता के रसेल ने पिछले मैच में दिखा दिया है कि उनके लिए कोई भी लक्ष्य मुश्किल नहीं है.

पिछले मैच में रसेल ने 19 गेंदों पर नाबाद 49 रन बनाकर दो गेंद बाकि रहते हुए टीम को जीत दिला दी थी. कोलकाता की टीम अपने घर में लगातार दूसरा मैच खेलने उतरेगी, जहां उसे एक बार फिर अपने घरेलू दर्शकों का समर्थन मिलेगा. कोलकाता को पंजाब के खिलाफ सुनील नारायण से बेहतर खेल की आस रहेंगी.


हैदराबाद के साथ खेले गए पहले मैच में सुनील नारायण ज्यादा प्रभाव नहीं छोड़ पाएं. इसलिए यह देखने वाली बात होगी कि सुनील नारायण कैसा प्रदर्शन करते है. क्रिकेट के कई दिग्गजों का मानना है कि बॉलिंग एक्शन में तब्दीली के बाद नारायण की गेंदबाजी में पहले की तरह धार नहीं नज़र आ रही है.

पंजाब के कप्तान रविचंद्रन अश्विन मांकडिंग विवाद की वजह से पूरी दुनिया में चर्चा का विषय बने हुए है ऐसे में यह भी देखने वाली बात होगी कि अश्विन मैदान पर आज किस तरह का खेल दिखायेंगे. राजस्थान के खिलाफ मैच में जोस बटलर को आउट करने के बाद उन पर मानसिक दबाव तो जरूर होगा.

गेंदबाजी में पंजाब टीम को एक बार फिर सैम कुरेन, मुजीब उर रहमान और अंकित राजपूत से उम्दा प्रदर्शन की उम्मीद होगी. जिन्होंने पिछले मैच के आखिरी ओवर में बेहतरीन गेंदबाजी करते हुए 2-2 विकेट लिए थे. पंजाब को अगर आज के मैच में जीत दर्ज करनी है तो टीम के मध्यक्रम को अपनी खोई हुई लय वापस हासिल करनी होगी.

दूसरी ओर कोलकाता के टीम के लिए सबसे बड़ी चिंता का विषय है उनकी तेज गेंदबाजी. कोलकाता की टीम में कोई भी ऐसा तेज गेंदबाज नहीं है जो मैच को पलटने का दम रखता हो. हालांकि कोलकाता की टीम बढ़िया स्पिनरों से सजी है. अगर कोलकाता ने जल्द ही इस समस्या से निजात नहीं पाया तो उनके लिए यह परेशानी आगामी मैच में बड़ा सिरदर्द साबित होगी.

%d bloggers like this: