जानें गोवा के नए सीएम PRAMOD SAWANT के बारे में 10 बड़ी बातें
  • ‘पार्टी ने मुझे बहुत बड़ी जिम्मेदारी दी है, मैं इसे हर संभव तरीके से निभाने की पूरी कोशिश करूंगा
  • आज मैं जो कुछ भी हूं सब मनोहर पर्रिकर की वजह से हूं

नई दिल्ली. प्रमोद सावंत गोवा के नए मुख्यमंत्री बन गए हैं. उन्होंने सोमवार देर रात राज भवन में पद की शपथ ग्रहण की. मनोहर पर्रिकर के निधन के बाद प्रमोद सावंत ने यहां बीजेपी की अगुवाई वाली सरकार का नेतृत्‍व संभाला.

पार्टी द्वारा मुख्यमंत्री बनाए जाने पर उन्होंने कहा, ‘पार्टी ने मुझे बहुत बड़ी जिम्मेदारी दी है, मैं इसे हर संभव तरीके से निभाने की पूरी कोशिश करूंगा. आज मैं जो कुछ भी हूं सब मनोहर पर्रिकर की वजह से हूं. वही मुझे राजनीति में लाए, मैं स्पीकर और आज सीएम बन गया.’ रविवार को 63 साल की उम्र में मनोहर पर्रिकर का निधन हो गया.

ये उनसे जुड़ी दस बड़ी बातें
1- गोवा बीजेपी के नेता 45 साल के डॉ प्रमोद सावंत का जन्म 24 अप्रैल 1973 को हुआ. सैंकलिम विधानसभा क्षेत्र से चुनकर आए डॉ प्रमोद सावंत का पूरा नाम डॉ प्रमोद पांडुरंग सावंत है. उनकी मां पद्मिनी सावंत और पिता पांडुरंग सावंत हैं.

2- प्रमोद सावंत ने आयुर्वेदिक चिकित्सा में महाराष्ट्र के कोल्हापुर की गंगा एजुकेशन सोसायटी से ग्रेजुएशन किया था.

3-उन्होंने सोशल वर्क में पोस्ट ग्रेजुएशन पुणे की तिलक महाराष्ट्र यूनिवर्सिटी से किया. प्रमोद सावंत किसान और आयुर्वेद चिकित्सा पद्धति के प्रेक्टिशनर हैं.

4- सावंत बीजेपी के अकेले विधायक हैं, जो आरएसएस काडर से हैं. गोवा के सीएम बनने से पहले वह पार्टी के प्रवक्ता और गोवा विधानसभा के अध्यक्ष रहे हैं. 2017 में बीजेपी के नेतृत्व वाली सरकार बनी, तब उन्हें विधानसभा अध्यक्ष बनाया गया था.

5- वह किसी भी विधानसभा सबसे कम उम्र के अध्यक्ष थे. वह नेतृत्व के लिए किस तरह से पसंदीदा लीडर थे इस बात को इससे ही समझा जा सकता है कि जब भी पर्रिकर के विकल्प की बात की गई तो उनका नाम प्रमुख रहा.

6-वह भारतीय जनसंघ, भारतीय मजदूर संघ के सक्रिय सदस्य थे. बीजेपी के वफादार कार्यकर्ता के तौर पर उनकी पहचान थी.

7- प्रमोद सावंत की पत्नी सुलक्षणा केमिस्ट्री की शिक्षिका हैं. वे बीकोलिम के श्री शांतादुर्गा हायर सेकेंडरी स्कूल में अध्यापन करती हैं. इसके साथ सुलक्षणा सावंत भारतीय जनता पार्टी की नेत्री हैं. वे बीजेपी महिला मोर्चा की गोवा इकाई की अध्यक्ष हैं.

8- उनकी राजनीति में एंट्री साल 2008 में बीजेपी नेतृत्व के आग्रह के बाद हुई. बीजेपी नेतृत्व के आग्रह के बाद उन्होंने अपनी सरकारी नौकरी छोड़ दी और बीजेपी उम्मीदवार के तौर पर उपचुनाव लड़ा.

9- हालांकि उस उपचुनाव में वह हार गए थे लेकिन साल 2012 में विजेता बनकर उभरे. 2017 के चुनाव में एक बार फिर वह साखली से निर्वाचित होकर गोवा विधानसभा में आए.

10- गोवा के युवा आंदोलन में उनके असाधारण कौशल के कारण उनको राज्य युवा पुरस्कार से नवाजा गया. वह भारतीय युवा जनता मोर्चा के प्रदेशाध्यक्ष और भारतीय जनता युवा मोर्चा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रहे हैं

Trending Tags- New CM of GOA, GOA Bidhansabha, Pramod Sawant, GOA BJP

%d bloggers like this: