उत्तराखंड में 25 नवम्बर से शुरू होगा खेल महाकुम्भ

देहरादून, 13 नवम्बर
खेल मंत्री अरविन्द पाण्डेय ने बुधवार को सचिवालय में ‘खेल महाकुम्भ 2019‘ के लिए गठित राज्य स्तरीय अनुश्रवण समिति की बैठक की. खेल मंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि खेल महाकुम्भ में भाग लेने वाले सभी खिलाड़ियों को प्रमाण पत्र दिया जाए.

उन्होने कहा कि गरीब प्रतिभाशाली बच्चों को प्रोत्साहित करने के लिए उनकी हर संभव सहायता की जाए. खिलाड़ियों का मनोबल बढ़ाने के लिए राज्य स्तर पर सम्मानित किए जाने की भी संभावनाएं तलाश की जानी चाहिए. साथ ही पंचायत स्तर तक प्रतिभाएं तलाशने का कार्य लगातार किया जाए.

खेल मंत्री पाण्डेय ने निर्देश दिए कि इस प्रतियोगिता में अधिक से अधिक खिलाड़ी भाग ले सकें इसके लिए राज्य स्तर से पंचायत स्तर तक व्यापक प्रचार प्रसार किया जाए.

खेल महाकुम्भ अवधि के दौरान सभी खिलाड़ियों के रहने, खाने, फर्स्ट-एड आदि की उचित व्यवस्था की जाए. खिलाड़ियों की संख्या के अनुरूप टॉयलेट की व्यवस्था भी की जाए. उन्होंने कहा कि प्रदेश से बाहर अन्य खेलों में प्रतिभाग करने वाले खिलाड़ियों के ट्रैक सूट, जूते एवं किट की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए.

बैठक में निर्णय लिया गया कि 25 नवम्बर से खेल महाकुम्भ शुरू होगा. खेल महाकुम्भ के लिए शुभंकर ‘कस्तूरी मृग‘ होगा. खेल महाकुंभ, 2019 का आयोजन क्रमशः न्याय पंचायत स्तर, ब्लाक स्तर, जिला स्तर तथा अन्त में राज्य स्तर पर किया जाएगा.

सचिव खेल बृजेश कुमार संत ने बताया कि खेल महाकुम्भ 2019 में इस वर्ष दो लाख से अधिक खिलाड़ी भाग लेंगे.खेलों के​ लिए निर्धारित आयु वर्ग अंडर-12, अंडर-14, अंडर-17, अंडर-21 (सभी वर्गों में बालक-बालिका पृथक-पृथक), 21-25 आयु वर्ग के लिए महिला वर्ग और दिव्यांगजन रखे गए हैं.

दिव्यांगजन के खेल आयोजन केवल राज्य स्तर पर होंगे. इसी प्रकार महिला वर्ग के खेल जिला एवं राज्य स्तर पर आयोजित होंगे. खेल महाकुम्भ में कुल 16 खेल प्रतियोगिताएं निर्धारित हैं. इस अवसर पर अपर सचिव उदयराज सिंह, विनोद कुमार सुमन, प्रताप सिंह शाह, निदेशक शिक्षा आरके कुंवर आदि उपस्थित थे.

हिन्दुस्थान समाचार/अमर

Leave a Reply