सऊदी से बच्ची के रेपिस्ट को पकड़कर भारत लाई ये महिला IPS, बनी देश के लिए मिसाल

पूरे देश में इस समय केरल की डीसीपी मेरिन जोसेफ की चर्चा हो रही है. दरअसल ये महिला पुलिस अफसर रेप के आरोपी को सऊदी अरब से पकड़कर भारत लेकर आई है. ये काम मुश्किलों से भरा था पर उन्होंने वो कर दिखाया जिसकी हिम्मत शायद ही कोई पुलिस अफसर करे.

क्या था पूरा मामला :

मेरिन जोसेफ जब केरल के कोल्लम की पुलिस कमिश्नर बनीं तो उन्होंने बच्चों के साथ अपराध की सारी फाइलें मंगवाई. फाइल की जांच के दौरान उन्हें एक ऐसा केस दिखा जिसका आरोपी अभी भी फरार था. जांच में पता चला कि सुनील कुमार भद्रन नाम के आरोपी ने दो साल पहले उनकी दोस्त की 13 साल की भांजी के साथ बलात्कार किया था. इसके बाद वो सऊदी अरब भाग गया.

बच्ची ने इस घटना की जानकारी अपने परिवार को दी जिसके बाद परिवार ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई पर बच्ची अपनी हिम्मत हार गई और उसने आत्महत्या कर ली. इसके बाद बच्ची के मामा ने भी आत्महत्या कर ली.

accused, Sunil Kumar Bhadran 

आरोपी के सऊदी अरब भागने के बाद इंटरपोल के कारण उसे 2 साल तक देश वापस लाने में पुलिस नाकाम रही. इस केस को भारतीय एजेंसी एक छोटा केस मान रहे थे इसलिए आरोपी को लाना मुश्किल हो गया.

इसके बाद जैसे ही IPS मेरिन जोसेफ इस बात की खबर लगी उन्होंने खुद इंटरपोल अरब, इंडियन एम्बेसी, इंटरनेशनल इन्वेस्टीगेशन सेल जैसे एजेंसियों से संपर्क करना शुरू कर दिया. आखिरकार उन्होंने खुद सऊदी अरब पहुंचकर आरोपी को पकड़ लिया और आरोपी को बीते रविवार भारत ले आईं.

केरल में किए गए किसी अपराध के लिए सऊदी से भारत लाया जाने वाला सुनील ऐसा पहला शख्स है. सऊदी अरब के साथ 2010 में हुए प्रत्यर्पण समझौते के कारण वो ऐसा करने में सफल रहीं.

कौन हैं मेरिन जोसफ

साल 2012 में मेरिन जोसफ ने पहले ही प्रयास में आईपीएस की परीक्षा पास कर ली थी. उन्होंने दिल्ली के सेंट स्टीफेन कॉलेज से बीए और एमए की पढ़ाई की थी. उनके पिता मिनिस्ट्री ऑफ एग्रीकल्चर में प्रिंसिपल एडवाइजर, जबकि मां कोट्टयम में इकोनॉमिक्स की टीचर हैं. मेरिन ने कोट्टयम के रहने वाले मनोवैज्ञानिक क्रिस अब्राहम से शादी की है.

साल 2016 में जब एक मीडिया संस्थान ने 10 सबसे खूबसूरत महिला आईपीएस और आईएएस अधिकारियों पर एक आर्टिकल छापा था तो मेरिन ने इसपर काफी विरोध जताया था. उन्होंने कहा था कि हम केवल आंखें सेंकने के लिए नहीं है बल्कि हमारी बातें कौशल और बुद्दिमता के लिए होनी चाहिए.

आज उन्होंने ये साबित भी कर दिया है कि आपके काम के आगे खूबसूरती भी फीकी पड़ जाती है.

Leave a Comment