कुमारस्वामी सरकार को आज 6 बजे तक देना है फ्लोर टेस्ट, बागी विधायकों को स्पीकर ने दिया कल मिलने का न्योता

नई दिल्ली. कर्नाटक में कांग्रेस-जेडीएस (Congress Jds) गठबंधन की सरकार रहेगी या गिर जाएगी इसका फैसला आज विधानसभा में फ्लोर टेस्ट से हो जाएगा.

स्पीकर ने बागी विधायकों को कल मिलने का न्योता दिया है. कर्नाटक स्पीकर ने बागी विधायकों को कल मिलने के लिए बुलाया है. कर्नाटक के स्पीकर के आर रमेश कुमार ने बागी विधायकों को 23 जुलाई को सुबह 11 बजे बुलाया है.

विधानसभा (Vidhansabha) में फ्लोर टेस्ट होना है, जहां कुमारस्वामी को बहुमत साबित करना है. विधानसभा स्पीकर केआर रमेश कुमार ने गठबंधन सरकार को बहुमत साबित करने के लिए शाम 6 बजे तक का वक्त दिया है.

कांग्रेस-जेडीएस ने इसके लिए भी हामी भर दी है. विधानसभा स्पीकर ने ये भी बताया कि 16 बागी विधायक अगर सदन नहीं पहुंचते हैं, तो उन्हें गैर हाजिर माना जाएगा.

मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी की ओर से पेश विश्वास मत (Trust Motion) पर सदन में बहस होगी. इस बीच कर्नाटक के राज्यपाल द्वारा कुमारस्वामी (Kumarswamy) को बहुमत साबित करने के लिए दी गई दो समय सीमाएं बीत चुकी हैं.

इससे पहले कर्नाटक (karnataka) के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने बागी विधायकों से वापस लौटने और सदन में चर्चा के दौरान बीजेपी को ‘‘बेनकाब’’ करने की अपील की है. हालांकि बागी विधायकों ने सत्र में हिस्सा लेने की संभावना खारिज कर दी है.

गुरुवार और शुक्रवार को विश्वास मत पर चर्चा तो खूब हुई लेकिन इसका नतीजा नहीं निकला ऐसे में आज वोटिंग हो सकती है. विश्वासमत से पहले कांग्रेस का एक बड़ा बयान आया है.

‘कांग्रेस को CM पद देने के लिए तैयार जेडीएस’
कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार (D Shivkumar) का कहना है कि सरकार बचाने के लिए जेडीएस त्याग करने को तैयार है. वो कांग्रेस की तरफ से किसी को मुख्यमंत्री बनाने को राजी है.

सदन में वोटिंग से ठीक पहले लिया गया ये फैसला सरकार बचाने में मदद कर पाएगा या नहीं इसका पता तो आज चल जाएगा लेकिन बागी विधायक के अपने ही तेवर हैं. देखते हैं आज शाम तक क्या रहेंगे नतीजे.

जेडीएस की ओर से इसकी कोई पुष्टि नहीं हुई कि उसने ऐसा कोई प्रस्ताव दिया है. दरअसल पहले ऐसी खबरें आई थीं कि कुमारस्वामी के ऐसे सुझाव को उनके पिता और जेडीएस सुप्रीमो एचडी देवेगौड़ा ने खारिज कर दिया था.

225 सदस्यीय कर्नाटक विधानसभा में फिलहाल कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन के पास (15 बागी विधायकों को मिलाकर) 117 विधायक हैं. इनमें कांग्रेस के 78, जेडीएस के 37, बीएसपी (BSP) का एक और एक मनोनीत विधायक शामिल है. इनसे अलग विधानसभा अध्यक्ष का भी एक वोट है.

Leave a Reply