सोमवार को कर्नाटक में शक्ति परिक्षण

कर्नाटक में बीते कई दिनों से चला आ रहा सियासी संकट रूकने का नाम नहीं ले रहा है. इसी बीच गठबंधन के नेताओं को मनानें की कोशिशें भी तेजी से जारी हैं.

वहीं बागी विधायकों में से पांच और विधायकों ने विधानसभा अध्यक्ष द्वारा इस्तीफा स्वीकार नहीं किए जाने को लेकर सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है.

बीजेपी भी सत्र के दौरान सोमवार को एचडी कुमारस्वामी (HD Kumarswamy) सरकार को शक्ति परिक्षण कराने को कहेगी.

शनिवार को पूरे दिन कांग्रेस के विधायक भी बागी विधायकों को मनाने में लगे रहे. इस दौरान कांग्रेस के नेता डीके शिवकुमार (DK Shivkumar), उप मुख्यमंत्री (G Parmeshwar), सीएलपी नेता सिद्दारमैया शामिल थे.

वहीं ऐसा माना जा रहा है कि बागी विधायक वापस आ सकते हैं. हालांकि विधायकों की ओर से कोई आधिकारिक घोषणा नहीं की गई है.

राज्य में जारी संकट के बीच कर्नाटक के सत्तारूढ़ कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन के पांच और बागी विधायकों ने उनके इस्तीफे को स्वीकार करने से विधानसभा अध्यक्ष रमेश कुमार के इंकार के खिलाफ शनिवार को सुप्रीम कोर्ट का रूख किया है.

इन पांच विधायकों में आनंद सिंह, के सुधाकर, एन नागराज, मुनिरत्न और रोशन बेग शामिल हैं. वहीं पहले से लंबित विधायकों की याचिका में ही इन पांचों को भी शामिल किया जाएगा.

सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक के 10 बागी विधायकों के इस्तीफे और अयोग्यता को लेकर 16 जुलाई तक स्पीकर केआर रमेश कुमार को कोई फैसला करने से रोक दिया है. उच्चतम अदालत ने कहा कि मामले में अगली सुनवाई मंगलवार को होगी.

इस बीच सीएम एचडी कुमारस्वामी ने बहुमत साबित करने के लिए विधानसभा अध्यक्ष से समय तय करने की मांग की है. कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन और विपक्षी दल बीजेपी विधानसभा में संभावित विश्वास मत के पहले अपने विधायकों पर नजर रखे हुए हैं. 

क्योंकि उन्हें इन दलों को अपने विधायकों की खरीद-फरोख्त की आशंका है. इसलिए पार्टी ने अपने विधायकों को बेंगलुरु के पास एक रिसॉर्ट में ठहराने का फैसला किया है. जद(एस) विधायकों को भी बेंगलुरु के पास एक रिसॉर्ट में ठहराया गया है.

2 thoughts on “सोमवार को कर्नाटक में शक्ति परिक्षण”

Leave a Reply

%d bloggers like this: