नई दिल्ली: 9 साल की बच्ची कमली मूर्ति और उसकी मां के स्ट्रगल पर बेस्ड फिल्म ऑस्कर में पहुंच गई है. ये फिल्म 2020 के ऑस्कर के लिए चुनी गई है. कमली साल 2018 में तमिलनाडु से स्केटबॉर्डिंग सनसनी के रुप में खबरों में आईं थी.

24 मिनट की है ये फिल्म– डॉक्यूमेंट्री फिल्म 24 मिनट की है. फिल्म का नाम कमली रखा गया. फिल्म में कमली की मां सुगंती के बारे में बताया गया है कि कैसे ऑर्थोडोक्स परंपरा से निकलकर अपनी बेटी को स्केटबोर्ड चैंपियन बनाया है. फिल्म को साशा रेनबो ने डायरेक्ट किया है.

बच्चों को देख अपने बचपन में खो जाती है सुगंती– फिल्म के बारे में बताते हुए कमली की मेंटर आईने एडवर्ड्स ने कहा, “जब सुगंती अपने बच्चों को देखती हैं, तो वो अपने बचपन को याद करतीं हैं, जहां सामाजिक दबाव की वजह से उन कामों को नहीं कर पायीं, जो वो करना चाहती थीं. आज वो चाहती हैं कि कमली उस आजादी का स्वाद ले जो उसके नसीब में नहीं थी.”

अटलांटा में भी मिल चुका है अवॉर्ड– ये फिल्म अटलांटा फिल्म फेस्टिवल में बेस्ट डॉक्यूमेंट्री का अवॉर्ड जीत चुकी है. इसके बाद ही फिल्म को ऑस्कर अवॉर्ड के लिए चुना गया. कमली तमिलनाडु के एक छोटे से शहर की रहने वाली है. वो अपने शहर में एकमात्र स्केटबोर्डर है.

टोनी हॉकर की पड़ी थी नजर– कमली पर टोनी हॉक की नजर पड़ने के बाद वो लाइमलाइट में आईं. टोनी भी कमली की स्केटिंग देखकर हैरान हो गए थे. टोनी ने कमली का फोटो फेसबुक पर शेयर की थी.