JNU में हंगामा, VC ने लगाया ये आरोप

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) के वाइस चांसलर जगदीश कुमार सोमवार को स्टूडेंट्स पर गंभीर आरोप लगाया. वीसी ने कहा कि कुछ स्टूडेंट्स उनके घर में जबरदस्ती घुसने की कोशिश की और उनकी पत्नी को बंधक भी बनाए रखा. ट्वीट कर उन्होंने इसकी जानकारी दी.

हालांकि दिल्ली पुलिस और जेएनयू छात्रसंघ ने वीसी को आरोपों से इंकार किया. जेएनयू छात्रसंघ के प्रतिनिधियों ने कहा कि वीसी के घर का घेराव किया गया था. यहां किसी को बंधक बनाए जाने की बात सही नहीं है.

दिल्ली पुलिस से मिली सूचना के आधार पर जेएनयू के करीब 100 छात्रों ने वीसी आवास तक मार्च निकाला. इसके बाद स्टूडेंट्स ने वीसी के घर में घुसने की कोशिश की. हालांकि सुरक्षाकर्मियों ने उन्हें रोक दिया.

भूख हड़ताल पर स्टूडेंट्स

JNU के स्टूडेंट्स पिछले एक हफ्ते से कैंपस में भूख हड़ताल पर हैं. स्टूडेंट्स की मांग है कि एंट्रेंस एग्जाम के लिए ऑनलाइन प्रक्रिया को न अपनाया जाए. ऑफलाइन माध्यम से ही एंट्रेंस टेस्ट लिए जाएं.

JNU में सोमवार को छात्रसंघ के आह्वान पर छात्र व शिक्षक सामूहिक भूख हड़ताल में शामिल हुए. आठ दिन से भूख हड़ताल में शामिल छात्रसंघ की पूर्व पदाधिकारी व हरियाणा निवासी गीता कुमारी बेहोश हो गई.

वहीं, JNU एडमिनिस्ट्रेशन ने छात्रसंघ के आरोपों को नकारते हुए कहा कि कंप्यूटर आधारित एंट्रेंस एग्जाम का फैसला शैक्षिक और कार्यकारिणी परिषद में हुआ था. एंट्रेंस एग्जाम में मल्टीपल च्वाइस क्वेश्चन पूछे जाएंगे, जिससे छात्रों को कोई परेशानी नहीं होगी.

JNU के एक प्रोफेसर ने बताया कि स्टूडेंट्स छात्रों ने कथित रूप से कुलपति के घर में घुसकर उनकी पत्नी को घेर लिया. उस समय कुलपति घर पर नहीं थे. इस बीच पुलिस को कॉल की गई और विश्वविद्यालय के अन्य प्रोफेसरों की पत्नियों ने उन्हें बचाया.

ट्वीट कर दी जानकारी

वहीं मामले को लेकर कुलपति ने ट्वीट किया. उन्होंने लिखा कि आज शाम करीब सौ स्टूडेंट्स ने जबरन मेरे जेएनयू आवास में तोडफ़ोड़ की. स्टूडेंट्स ने मेरी पत्नी को कई घंटों तक घर के अंदर कैद रखा. उन्होंने बताया कि मैं एक बैठक में था. घर में एक अकेली महिला को आतंकित करना.. यह विरोध का कैसा तरीका है?

%d bloggers like this: