JDU विधायक ने CM नीतीश कुमार के इस फैसले पर उठाए तीखे सवाल, की ये मांग

Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

पटना, 03 सितम्बर. सतारूढ़ जनता दल (यू) के विधायक अमरनाथ गामी ने बिहार में पान-मसाला और गुटखा पर प्रतिबंध लगाने पर अपनी सरकार की कार्यर्शली पर सवाल उठाया है.

गामी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से राज्य में पान मसाले पर प्रतिबंध और शराबबंदी कानून को खत्म करने की मांग की. दरभंगा के हायाघाट से जद (यू) के विधायक अमरनाथ गामी कई मुद्दों पर पार्टी विरोधी स्वर उठाते रहे हैं.

मंगलवार को विधायक गामी ने संवाददाताओं के साथ वार्ता करते हुए कहा कि शराबबंदी कानून के लागू होने के बावजूद हर दिन शराब की खेप पकड़ी जा रही है और यह सब जानते हुए भी मुख्यमंत्री ने पान-मसाला और गुटखा प्रतिबंध लगाया है.

पान-मसाला और गुटखा प्रतिबंध का भी वही हश्र होगा, जो शराबबंदी का हुआ. उन्होंने कहा कि शराबबंदी कानून सख्ती से लागू रहने के बाद भी शराब की बिक्री पर रोक नहीं लग पाने में प्रशासनिक विफलता को देखते हुए विरोधी पार्टियां भी इसे खत्म करने की मांग कर रही हैं. उन्होंने कहा कि अपना चेहरा चमकाने के लिए सरकार ऐसे फैसले ले रही है.

गामी ने मुख्यमंत्री से शराबबंदी पर पुनर्विचार करने का आग्रह करते हुए कहा कि सरकार एक ओर नौकरी देने में विफल रह रही है, जबकि दूसरी ओर लोगों का रोजगार भी छीन रही है.

पान-मसाला और गुटखा प्रतिबंध वापस लेने की मांग करते हुए उन्होंने कहा कि यदि इसका विरोध नहीं किया गया तो वह दिन दूर नहीं जब इसका व्यापार करने वालों को स्टशनों पर भीख मांगनी पड़ेगी.

उल्लेखनीय है कि बिहार में 2 अक्टूबर 2016 से ही शराबबंदी लागू है. अब सरकार ने इस वर्ष 30 अगस्त से गुटखा और पान-मसाले के उत्पादन और खरीद-बिक्री पर भी रोक लगा दी है. हिन्दुस्थान समाचार/रजनी