एक ही मैदान में होंगे '36' का आंकड़ा रखने वाले जया और आजम

नई दिल्ली. राजनीति में तेलुगू देशम के बाद समाजवादी पार्टी और राष्ट्रीय लोकदल का सफर करने वाली फिल्म अभिनेत्री और पूर्व सांसद जया प्रदा आज भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गई हैं. माना जा रहा है कि जया को आजम खान के खिलाफ रामपुर से मैदान में उतारा जा सकता है.

इससे पहले जया प्रदा समाजवादी पार्टी का बड़ा चेहरा रहीं थीं. बाद में अमर सिंह और सपा के बीच खटपट होने के बाद जया ने सपा से किनारा कर लिया. जया कभी आजम खान को भाई मानती थीं. वहीं आजम ने तल्ख टिप्पणियां की थीं जया प्रदा के खिलाफ.

  • आजम खान और जया प्रदा के बीच तकरार की खबरें अक्सर आती रही हैं. साल 2018 में आजम खान ने कहा था, ‘मैं इन दिनों शिक्षा के क्षेत्र में व्यस्त हूं. मेरे पास इस तरह के लोगों की बातों का जवाब देने का वक्त नहीं है. मेरा फोकस छात्रों की पढ़ाई में है. मैं नाचने-गाने वालों के मुंह नहीं लगूंगा. यदि मैं ऐसा करूंगा तो फिर सियासत नहीं कर पाऊंगा.’
  • आजम खान का यह विवादित बयान जया प्रदा की एक टिप्पणी पर था. जया प्रदा ने एक बयान में कहा था कि ‘पद्मावत’ फिल्म के अलाउद्दीन खिलजी को देखकर उन्हें आजम खान याद आ गए थे. जब वह चुनाव लड़ रही थीं तब आजम खान ने उन्हें भी बहुत प्रताड़ित किया था.
  • आजम खां और जया प्रदा के बीच पुरानी नोक-झोक है. जब अमर सिंह समाजवादी पार्टी में प्रभाव रखते थे तब जया प्रदा की पार्टी में बोलबाला था.
  • जया प्रदा 2004 व 2009 में समाजवादी पार्टी की टिकट पर रामपुर से सांसद भी रह चुकी हैं. 2009 में आजम खां के तमाम विरोध के बावजूद भी मुलायम सिंह यादव ने जया प्रदा को रामपुर से चुनाव लड़वाया था. इसमें भी जया प्रदा ने जीत दर्ज की थी.
  • आजम और जया प्रदा के बीच जमकर नोक-झोक जारी रही. आजम खां और उनके समर्थक जहां जया प्रदान को ‘नचनिया’ और ‘घुंघरू वाली’ कहते थे वहीं जया प्रदा चुनावी सभाओं में आजम खां को भैया कहती थीं.
  • इसके बाद अमर सिंह के समाजवादी पार्टी के छोड़ देने के बाद जया प्रदा ने भी पार्टी छोड़ दी थी. जया प्रदान ने 2014 के चुनाव में बिजनौर से राष्ट्रीय लोकदल के टिकट पर किस्मत आजमाई लेकिन वह चुनाव हार गई थीं.
%d bloggers like this: