जम्मू-श्रीनगर, श्रीनगर-लेह राजमार्ग तथा मुगल रोड़ यातायात के लिए बंद

जम्मू, 28 नवंबर (हि.स.). बुधवार को उच्च पर्वतीय इलाकों में बर्फबारी और निचले क्षेत्रों में हुई भारी बारिश व ओलावृष्टि के कारण रामबन जिले में भूस्खलन हुआ जिसके चलते जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग यातायात के लिए बंद हो गया जो कि आज गुरूवार को दूसरे दिन भी बंद है. इससे हजारों वाहन जगह-जगह फंस कर रह गए हैं.

इसके अलावा कश्मीर को पुंछ से जोड़ने वाला मुगल रोड, किश्तवाड़ को अनंतनाग से जोड़ने वाला सिंथनटॉप मार्ग तथा श्रीनगर-लेह राजमार्ग ताजा बर्फबारी के चलते बंद है.

बुधवार को भारी बारिश के कारण रामबन व रमसू में बैटरी चश्मा, पंथल, मंकी मोड़, मोमपस्सी में भारी भूस्खलन हुआ. भूस्खलन के कारण इन स्थानों पर पहाड़ी से बड़ी तदाद में मलवा तथा बड़े-बड़े पत्थर मार्ग पर फैल गए. जिस कारण जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग बंद कर दिया गया.

वहीं जवाहर टन्नल के दोनों तरफ हुई भारी बर्फबारी के कारण फिसलन पैदा हो गई है जिसके चलते वाहनों को काज़ीगुंड में ही रोक दिया गया है. दोनों ओर से मार्ग बंद होने के चलते हजारों वाहन जिसमें मालवाहक ट्रक व यात्री गाडियों सहित अन्य वाहन शामिल हैं रास्तें में फस गए हैं.

गुरूवार को मौसम में थोड़ा सुधार होने के चलते मार्ग से भूस्खलन का मलवा हटाने का कार्य शुरू कर दिया गया है. मार्ग की हालत ठीक होने के बाद ही राजमार्ग को यातायात के लिए खोला जाएगा और सबसे पहले फंसे वाहनों को निकाला जाएगा.


वहीं कश्मीर घाटी को लद्दाख से जोड़ने वाला श्रीनगर-लेह राजमार्ग ताजा बर्फबारी के चलते गुरूवार को भी यातायात के लिए बंद है. हालांकि मार्ग पर बर्फ हटाने का काम जारी था, लेकिन बुधवार को जोजिला दर्रे के निकट ताजा बर्फबारी हुई जिससे बर्फ हटाने के कार्य में बाधा पहुंची है.

इसी बीच मुगल रोड़ पर भी बुधवार को ताज़ा बर्फबारी हुई जिसके चलते यहां पर जारी बर्फ को हटाने के कार्य में जुटे कर्मियों के लिए और मुश्किलें पैदा हो गई हैं. इसके अलावा भारी बारिश, बर्फबारी तथा औलावृष्टि से राजौरी-पुंछ के कईं संपर्क मार्ग भी बंद हो गए हैं. जिन्हें खोलने का कार्य जारी है.

हिन्दुस्थान समाचार/सुमन/बलवान

Leave a Reply