दो दिनों से बंद जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग आंशिक रूप से खुला, कारगिल-श्रीनगर मार्ग को भी जल्द खोला जाएगा

जम्मू, जम्मू-कश्मीर।

दो दिनों से भारी बारिश व बर्फबारी के कारण हुए भूस्खलन के चलते बंद रहे जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग को शुक्रवार दोपहर बाद आंशिक रूप से यातायात के लिए बहाल कर दिया गया है.

यातायात के एक अधिकारी के अनुसार राजमार्ग को वाहनों की आवाजाही के लिए शुक्रवार दोपहर बाद आंशिक रूप से खोल दिया गया है. उन्होंने कहा कि जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर केवल पहले से फंसे हुए 4000 हजार वाहनों को ही दोनों ओर से जाने दिया जाएगा.

उन्होंने कहा कि जम्मू से श्रीनगर और इसके विपरीत दोनों तरफ से कोई नए वाहन को शुक्रवार को जाने नहीं दिया जाएगा.बुधवार को उच्च पर्वतीय इलाकों में बर्फबारी और निचले क्षेत्रों में हुई भारी बारिश व ओलावृष्टि के कारण रामबन जिले में भूस्खलन हुआ था जिसके चलते  जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग को यातायात के लिए बंद किया गया था.

वहीं कश्मीर घाटी को लद्दाख से जोड़ने वाला श्रीनगर-लेह राजमार्ग ताजा बर्फबारी के चलते शुक्रवार को भी यातायात के लिए बंद है. हालांकि मार्ग पर बर्फ हटाने का काम जारी है. इसी बीच मुगल रोड पर भी बुधवार को ताज़ा बर्फबारी हुई जिसके चलते यहां पर जारी बर्फ को हटाने के कार्य में जुटे कर्मियों के लिए और मुश्किलें पैदा हो गई हैं. इसके अलावा भारी बारिश, बर्फबारी तथा औलावृष्टि से राजौरी-पुंछ के कईं संपर्क मार्ग भी बंद हो गए थे. जिन्हें खोल दिया गया है.

वहीं लद्दाख के उपराज्यपाल के सलाहकार उमंग नरुला ने शुक्रवार को जानकारी देते हुए कहा कि कारगिल-श्रीनगर मार्ग को जल्द खोला जाएगा ताकि मार्ग पर यात्रा करने वाले यात्री अपने-अपने गंतव्य तक पहुंच सकें और लद्दाख को आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति सुनिश्चित हो सके.

जोजिला मार्ग पर चल रहे बर्फ निकासी के संचालन का जायजा लेने और अन्य स्थानों पर हुई ताज़ा बर्फबारी के बाद सलाहकार ने बीआरओ और सिविल अधिकारियों की बैठक बुलाई. इस बैठक में चीफ इंजीनियर ब्रिगेडियर अमित सोहल, अतिरिक्त उपायुक्त कारगिल सोनम चोसजोर के अलावा बीआरओ और नागरिक प्रशासन के अन्य संबंधित अधिकारियों ने भाग लिया.

बैठक के दौरान चीफ इंजीनियर प्रोजेक्ट विजय ब्रिगेडियर अमित सोहल ने सलाहकार को बताया कि जोजिला दर्रे के दोनों ओर से बर्फ की निकासी का कार्य जोरों पर हैं. उन्होंने कहा कि मार्ग को कर्मचारियों और मशीनों की सहायता से जल्द बहाल करने के प्रयास जारी हैं.

हिन्दुस्थान समाचार/मोनिका

Leave a Reply