पी. चिदंबरम के हो सकते हैं ISI और नक्सलियों से संबंध: रवींद्र

18
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

जम्मू, 18 अक्टूबर (हि.स.). देश और जम्मू-कश्मीर के खिलाफ बोलने वालों को करारा जवाब देने वाले भारतीय जनता पार्टी के जम्मू-कश्मीर इकाई के अध्यक्ष रवीन्द्र रैना ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी. चिदंबरम पर बड़ा हमला बोला है.

रैना ने संविधान के अनुच्छेद 370 को बहाल करने का समर्थन करने के लिए पी. चिदंबरम पर निशाना साधते हुए कहा कि वह चीन और पाकिस्तान की भाषा बोल रहे हैं. ऐसे में पी. चिदंबरम के आईएसआई और नक्सलियों से संबंध हो सकते हैं.

जम्मू-कश्मीर इकाई के अध्यक्ष रैना ने शनिवार को कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और उनके पुत्र राहुल गांधी को चिदंबरम और दिग्विजय सिंह जैसे नेताओं को ‘देश के खिलाफ’ बोलने देने के लिए माफी मांगनी चाहिए.

चिदंबरम ने कथित रूप से कहा था कि कांग्रेस जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा और लोगों के अधिकार बहाल करने के लिए मजबूती से खड़ी है. उन्होंने कहा था कि पांच अगस्त 2019 को नरेन्द्र मोदी सरकार की ओर से लिए गए ‘मनमाने और असंवैधानिक’ फैसले को वापस लिया जाना चाहिए.

‘शी जिनपिंग और इमरान खान की भाषा बोल रहे चिदंबरम’
चिदंबरम के बयान पर अपनी प्रतिक्रिया में रैना ने कहा कि पूर्व केन्द्रीय मंत्री के पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई और नक्सलियों से संबंध हो सकते हैं. रैना ने ट्विटर पर अपने एक वीडियो बयान में कहा, ‘कांग्रेस के नेताओं ने हमेशा देश की पीठ में छुरा घोंपा है.

अनुच्छेद 370 आतंकवाद, अलगाववाद और पाकिस्तान समर्थक विचारधारा का जन्मदाता और जम्मू-कश्मीर में खून-खराबे का मुख्य कारण था. चिदंबरम पाकिस्तान के राष्ट्रपति शी जिनपिंग और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की भाषा बोल रहे हैं.’

हिन्दुस्थान समाचार/ रामानुज