4 जुलाई से जामा मस्जिद को फिर खोलने का फैसला

Jama Masjid
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

दिल्ली के लालकिला के सामने स्थित ऐतिहासिक जामा मस्जिद 4 जुलाई से फिर खुल जाएगी. कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए 12 जून को इसे दोबारा बंद करने का फैसला लिया गया था. इससे पहले यह मार्च से लेकर जून के पहले सप्ताह तक पूरी तरह बंद थी. यह जानकारी जामा मस्जिद के नायब शाही इमाम शाबान बुखारी ने दी है.

हालांकि केंद्र की अनलॉक-1 की गाइड लाइन के अनुसार 8 जून से ही सभी धार्मिक स्थलों को खोलने का फैसला किया गया था. इसके तहत जामा मस्जिद को भी खोल दिया गया था, लेकिन बाद में जामा मस्जिद के कर्मचारियों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद शाही इमाम अहमद बुखारी ने मस्जिद को फिर से बंद करने का फैसला लिया गया.

जामा मस्जिद के जनसंपर्क अधिकारी और शाही इमाम अहमद बुखारी के निजी सचिव अमानुल्लाह खान की कोरोना वायरस से मौत हो गई थी. जिसके बाद शाही इमाम ने जामा मस्जिद को 1 जुलाई तक बंद करने का फैसला लिया गया था.

नायब शाही इमाम सैयद शाबान बुखारी ने बताया है कि जामा मस्जिद को आगामी 4 जुलाई को 12:30 बजे आम नमाजियों के लिए खोलने का फैसला लिया गया है. इस दौरान केंद्र एवं राज्य सरकार की कोरोना वायरस से सम्बंधित जो भी गाइड लाइन जारी की जाएगी, उसके अनुसार ही मस्जिद में सारा बंदोबस्त किया जाएगा.

उन्होंने बताया कि मस्जिद प्रबंधन की तरफ से जो फैसला किया गया है, उसके अनुसार मस्जिद के दरवाजे दोपहर 12:30 बजे आम नमाजियों के लिए खोल दिए जाएंगे. ज़ोहर की नमाज के बाद मस्जिद बंद कर दी जाएगी. असर से मग़रिब तक जामा मस्जिद खुली रहेगी.

अभी की गाइड लाइन के अनुसार 10 बजे रात से सुबह 5 बजे तक लॉकडाउन का वक्त शुरू हो जाता है, इसलिए ईशा और फज्र में वही लोग बाजमाअ़त नमाज अदा करेंगे जो मस्जिद के अंदर रहते हैं.

उन्होंने बताया कि वायरस फैलने के कारण एक नमाज़ी से दूसरे नमाजी़ के बीच दूरी बनाए रखना जरूरी है. नमाज अदा करने के लिए जाए-नमाज साथ लेकर आने की सलाह नमाजियों को दी गई है. इसके अलावा नमाजियों से वुजू अपने अपने घर से करके आने को कहा गया है.

हिन्दुस्थान समाचार/एम ओवैस