कुलभूषण जाधव पर संसद में बयान देंगे विदेश मंत्री जयशंकर

  • आईसीजे (ICJ) ने भारत के पक्ष में फैसला सुनाते हुए पाक से उनकी मौत की सजा की समीक्षा करने को कहा और राजनयिक पहुंच देने का भी आदेश दिया
  • पाकिस्तान ने 3 मार्च 2016 को दावा किया था कि उसने एक भारतीय नौसेना के अधिकार कुलभूषण जाधव को जासूसी के आरोप में बलूचिस्तान से गिरफ्तार किया है

नई दिल्ली. पाकिस्तान (Pakistan) की जेल में बंद भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव (Kulbhusan jadhav) पर बुधवार को इंटरनैशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस ने अपना फैसला सुनाया. अदालत के 16 जजों ने 15-1 के बहुमत से कुलभूषण की फांसी की सजा निलंबित कर दी.

आईसीजे (ICJ) ने भारत के पक्ष में फैसला सुनाते हुए पाक से उनकी मौत की सजा की समीक्षा करने को कहा और राजनयिक पहुंच देने का भी आदेश दिया.

विदेश मंत्रालय ने भी आईसीजे के फैसले का स्वागत किया. भारत की इस बड़ी कामयाबी पर पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Prasad) ने खुशी जाहिर की है.

फैसला आने के बाद विदेश मंत्री एस जयशंकर (Jaishankar) ने उनके परिवारवालों से भी बात की. विदेश मंत्री एस. जयशंकर कुलभूषण जाधव पर आए फैसले पर गुरुवार को राज्यसभा में बयान देंगे.

आईसीजे प्रमुख जस्टिस अब्दुलकवि अहमद यूसुफ ने फैसला पढ़ा. कोर्ट के अध्यक्ष जस्टिस अब्दुलकावी अहमद यूसुफ ने कहा कि जब तक पाकिस्तान प्रभावी ढंग से फैसले की समीक्षा और उस पर पुनर्विचार नहीं कर लेता, फांसी पर रोक जारी रहेगी.

इसके अलावा अंतरराष्ट्रीय न्यायालय ने यह भी कहा कि पाकिस्तान ने वियना कन्वेंशन का भी उल्लंघन किया है.

सोमालिया के जस्टिस यूसुफ ने 42 पन्नों के फैसले में कहा कि पाकिस्तान जब तक प्रभावी ढंग से अपने फैसले की समीक्षा और पुनर्विचार नहीं कर लेता है, तब तक कुलभूषण की फांसी पर रोक रहेगी.

पाकिस्तान ने 3 मार्च 2016 को दावा किया था कि उसने एक भारतीय नौसेना के अधिकार कुलभूषण जाधव को जासूसी के आरोप में बलूचिस्तान से गिरफ्तार किया है.

आईसीजे ने पाकिस्तानी सैन्य अदालत के फैसले को रद्द करने, जाधव की रिहाई और उन्हें सुरक्षित भारत पहुंचाने की नई दिल्ली की कई मांगों को खारिज कर दिया.

वहीं कोर्ट ने भारत की अपील के खिलाफ पाकिस्तान की ज्यादातर आपत्तियों को सिरे से खारिज कर दिया. इससे पाक की अंतरराष्ट्रीय स्तर पर काफी किरकिरी हुई है.

21 फरवरी को आईसीजे ने इस मामले में सुनवाई पूरी कर फैसला सुरक्षित रख लिया था. इसके करीब 5 महीने बाद जस्टिस यूसुफ की अगुआई वाली 15 सदस्यीय पीठ ने अपना फैसला सुनाया.

भारत को जीत मिलने पर मुंबई में जाधव के करीबियों एवं दोस्तों में खुशी की लहर है. जाधव की सुरक्षित रिहाई के लिए प्रार्थना करने वाले उनके दोस्तों ने आईसीजी के फैसले पर खुशी जाहिर की.

Trending Tags- Pakistan | Kulbhushan Jadhav | S Jaishankar | India

1 thought on “कुलभूषण जाधव पर संसद में बयान देंगे विदेश मंत्री जयशंकर”

Leave a Comment

%d bloggers like this: