Chandrayaan - 2 (File Photo)
Chandrayaan - 2 (File Photo)
  • भारत के इस दूसरे चंद्र अभियान में कु 13 पेलोड होंगे
  • खास बात है कि इस चंद्रयान में अमेरिका की अंतरिक्ष एजेंसी नासा का भी एक उपकरण लगा होगा

इसरो ने चंद्रयान-1 की सफलता के बाद अब चंद्रयान- 2 को भेजने की तैयारी शुरू कर दी है. बुधवार को इसरो ने बताया की अगला चंद्रयान – 2 जुलाई में भेजा जाएगा.

भारत के इस दूसरे चंद्र अभियान में कु 13 पेलोड होंगे. खास बात है कि इस चंद्रयान में अमेरिका की अंतरिक्ष एजेंसी नासा का भी एक उपकरण लगा होगा.

इसरो का चंद्रयान मिशन के बारे में कहना है कि 13 भारतीय पेलोड जिसमें की ऑर्बिटर पर 8, लैंडर पर 3, रोवर पर 2 और नासा का एक पैसिव एक्सपेरिमेंट उपकरण होगा. नासा का ये उपकरण धरती और चांद के बीच की दूरी का अंदाजा लगाएगा, इसे नापेगा.

ऐसा है चंद्रयान 2

इस चंद्रान-2 में  तीन मॉड्यूल हैं. इसके खास हिस्से जिसे ऑर्बिटर कहा जाता है. इसमें लैंडर और रोवर भी है. माना जा रहा है कि इसरो चंद्रयान – 2 की लॉन्चिंग जुलाई में करेगा. इसके लिए 9-16 जुलाई के बीच लॉन्चिंग की जाएगी. इसरो का अनुमान है कि 6 सितंबर तक चंद्रयान तक पहुंचेगा.

ऐसे लगाएंगे चक्कर

इसरो से मिली जानकारी के अनुसार ऑर्बिटर चंद्रमा की सतह से 100 किलोमीटर की दूरी पर चक्कर लगाएगा. वहीं लैंडर चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर उतरेगा. रोवर अपनी एक जगह पर ही प्रयोग करेगा.

इसरो के मुताबिक इस अभियान में GSLV मार्क 3 प्रक्षेपण यान का इस्तेमाल किया जाएगा. पिछली बार साल 2008 में चंद्रयान मिशन-1 को अंजाम दिया गया था.

Trending tags – ISRO news | National News | Satellite news | NASA | Aaj ka Samachar