रेलवे ने बदल दिए टिकट बुकिंग के नियम, अब देनी होगी ये जानकारी

नई दिल्ली. 1 जून से देश में 200 यात्री ट्रेनों को शुरू किया गया है. रेलवे लगातार टिकट की बुकिंग के लिए साइट भी खोल रहा है. जल्द ही रेलवे तत्काल टिकट बुकिंग की सुविधा भी शुरू करने जा रहा है.

अगर आप भी ट्रेन से सफर करने के बारे में सोच रहे हैं. तो आपको बता दें कि रेलवे ने ट्रेनों में आम टिकट बुकिंग के लिए भी नियमों में बदलाव कर दिया है.

यात्रियों को अब रिजर्वेशन टिकट फॉर्म में एड्रेस के अलावा और भी जानकारी देनी होंगी. रेलवे ने रिजर्वेशन टिकट फॉर्म में बदलाव किया है. अब यात्रियों को एड्रेस के साथ-साथ मकान नंबर, गली, कॉलोनी, शहर, तहसील और जिले की जानकारी भी दर्ज करनी होगी.

टिकट बुकिंग के समय मोबाइल नंबर भी वही देना होगा जो आप यात्रा के समय अपने साथ लेकर चलने वाले हैं. साथ ही फोन में अरोग्य सेतु एप रखना भी अनिवार्य होगा. यात्री रिजर्वेशन काउंटर्स से टिकट ले या फिर IRCTC की वेबसाइट से या ऐप से, उनसे यह सारी जानकारी देना जरूरी होगी.

इसके साथ ही IRCTC से टिकट बुक करते समय आपको यात्री का पूरा नाम लिखने को कहा जा रहा है. लोग पहले सिर्फ पहला अक्षर और उपनाम लिखकर भी टिकट बुक कर लेते थे. हालांकि, काउंटर से टिकट बुक कराते समय पूरा नाम लिखना जरूरी था. अब इसे ऑनलाइन बुकिंग के लिए भी अनिवार्य कर दिया गया है.

रेलवे ने कोरोना संक्रमण काल को देखते हुए यात्री के डेस्टिनेशन सहित अन्य जानकारियों को साझा करना अनिवार्य कर दिया है. अगर आप रिजर्वेशन फॉर्म पर ये जानकारियां नहीं देंगे तो टिकट बुक नहीं होगा. कम्प्यूटराइज्ड सिस्टम के तहत इन जानकारियों के बाद ही आरक्षित टिकट बनकर मशीन से निकलेगा.

Leave a Reply

%d bloggers like this: