#IPL2019: IPL का महामुकाबला आज, कौन सी टीम ज्यादा भारी
  • मुंबई और चेन्नई दोनों ही ऐसी टीमें है जिन्होने अब तक सबसे ज्यादा 3-3 बार आइपीएल खिताब अपने नाम किया है
  • मुंबई इंडियंस आइपीएल की इकलौती ऐसी टीम है जिसका चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ जीत का प्रतिशत 50 से ज्यादा है

मार्च से शुरू हुआ आइपीएल का 12वां सीजन अब अपने आखरी पाएदान पर आकर खड़ा हो गया है. आइपीएल का फाइनल मुकाबला आज हैदराबाद में चेन्नई सुपर किंग्स और मुंबई इंडियंस के बीच खेला जाना है.

मुंबई और चेन्नई दोनों ही ऐसी टीमें है जिन्होने अब तक सबसे ज्यादा 3-3 बार आइपीएल खिताब अपने नाम किया है. इसके हिसाब से आज जो भी टीम आइपीएल 2019 की इस ट्रॉफी को अपने नाम करेगी वो अब तक की सबसे सफल टीम बन जाएगी.

मुंबई इंडियंस आइपीएल की इकलौती ऐसी टीम है जिसका चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ जीत का प्रतिशत 50 से ज्यादा है. जबकि बाकी सभी टीमों का 50 से काफी कम है.

हैदराबाद के इस मैदान पर चेन्नई ने कुल 7 में से 4 मैच जीते हैं. वहीं मुंबई ने यहां 10 मैच खेले हैं. इनमें से 6 में जीत हासिल की, जबकि 4 मुकाबले हारी है.

ऐसे में आज के आइपीएल फाइनल में इन दोनों चैंपियंस के बीच कांटे टक्कर होने की उम्मीद है. चलिये एक नज दोनो टीमों की कुछ खास बातों पर.

मुंबई की खास बात

मुंबई इंड़ियंस की खास बात यह है कि वह एक टीम की तरह मैदान पर उतरती हैं. टीम में एक से बढ़कर एक बल्लेबाज और गेंदबाज हैं

मुंबई का टॉप ऑर्डर बेहद मजबूत

टींम का टॉप ऑर्डर बेहद मजबूत माना जाता है क्योंकी टॉप ऑर्डर ने हर बार टीम को एक अच्छी शुरुआत दी है. इस सीजन के टॉप ऑर्डर के टॉप 5 बल्लेबाजों में क्विंटन डी कॉक का नाम शामिल है. डी कॉक ने टॉप ऑर्डर में लगभग 15 पारियों में 4 अर्धशतक की मदद से 500 रनों का योगदान दिया है. वहीं रोहित शर्मा ने 14 पारियों में 390 रन बनाए हैं.

मिडल ऑर्डर आसान करता है जीत की राह

मुंबई के मिडल ऑर्डर की बात करें तो उनके पास सूर्यकुमार यादव, हार्दिक पंड्या और कायरन पोलार्ड जैसे खिलाड़ी हैं जो टींम को मजबूत रखते हुए जीत की राह तक ले जाते हैं.

हार्दिक पंड्या का ऑलराउंडर प्रदर्शन. उन्होंने 15 मैच में 48.25 के औसत से 386 रन बनाए. वे 9.32 के इकॉनमी रेट से 14 विकेट भी ले चुके हैं. वे सबसे ज्यादा रन बनाने के मामले में 17वें और विकेट लेने के मामले में 14वें नंबर पर हैं.

बुमराह और मलिंगा जैसे गेंदबाज

जसप्रीत बुमराह और मलिंगा जैसे घातक गेंदबाजों का साथ मुंबई के पास हैं. बुमराह ने 15 पारियां में 6.84 की औसत से 17 विकेट चटकाए हैं. वहीं मलिंगा ने 11 पारियों में 9.52 की औसत से 15 विकेट झटके हैं.

रोहित शर्मा का प्रदर्शन

मुंबई के कप्तान रोहित शर्मा इस पूरे सीजन में कुछ खास नही कर पाए हैं रोहित ने अभी तक 390 रन जरूर बनाए हैं लेकीन उनका अच्छा प्रदर्शन लगातार नहीं रहा है. वे लगातार 3 मैच में 30 या उससे ज्यादा रन नहीं बना पाए.

चेन्नई की ताकत हैं धोनी

चेन्नई की टीम में सबसे खास बात उनके कप्तान महेंद्र सिंह धोनी है. वे अपनी टीम की सबसे बड़ी ताकत भी हैं. धोनी अपनी रणनीति और गजब की कप्तानी के लिए जाने जाते हैं.

धोनी के टीम में होने भर से ही विपक्षी टीम के पसीने छुट जाते हैं. और टीम की राह आसान हो जाती है. वहीं धोनी 14 मैच में 414 रन बनाकर टीम के टॉप स्कोरर हैं. यही नहीं वह 400 से ज्यादा रन बनाने वाले टीम के पहले बल्लेबाज भी हैं.

वॉटसन और डु प्लेसी जैसे शानदार बल्लेबाज

चेन्नई के पास शेन वॉटसन, फाफ डु प्लेसी जैसे शानदार बल्लेबाज हैं हालांकि वॉटसन का प्रदर्शन कुछ खास नही रहा है मगर अब वे अपनी फॉर्म में लौट चुके हैं. डु प्लेसी का अच्छे फॉर्म में होना टीम के लिए शुभ संकेत है. डु प्लेसी ने 11 मैचों में 370 रन बनाए हैं. उन्होंने इस दौरान 3अर्धशतक भी लगाए.

बेहतरीन स्पिनर चेन्नई के पास

टीम के पास इमरान ताहिर, हरभजन सिंह और रवींद्र जडेजा के रूप में बेहतरीन स्पिनर हैं जो उसके लिए सफलता की कुंजी साबित हुए हैं.

टीम में ऑलराउंडर खिलाड़ी ज्यादा

चेन्नई की टीम में ज्यादातर ऑलराउंडर खिलाड़ी मौजूद होने की वजह से कप्तान धौनी को गेंदबाजी में कई विकल्प मिलते हैं. आठवें और नौवें नंबर तक टीम के खिलाड़ी बल्लेबाजी कर सकते हैं.

तेज गेंदबाजों में दीपक चाहर को छोड़कर कोई भी गेंदबाज कुछ खास नही कर पाया है. ड्वेन ब्रावो 11 मैच में 11 विकेट ही ले पाए हैं जबकि शार्दुल ठाकुर भी 9 मैच में 6 विकेट ही ले पाए हैं

Trending Tags: IPL 2019 | IPL final |Mumbai Indians | Chennai super kings |MS Dhoni | Mumbai indians captain | Chennai super team captain

%d bloggers like this: