Eight Arrested
Eight Arrested
  • एसटीएफ ने मंगलवार देर रात कई जनपदों में छापेमारी की और छापेमारी में सरगना समेत कानपुर से पांच और वाराणसी से तीन सट्टेबाजों को धर दबोचा है
  • सूत्रों के मुताबिक कानपुर से ही दो ऑनलाइन बेटिंग बॉक्स भी बरामद किए गए हैं.

आईपीएल में सट्टा लगाने वाले गिरोह की पकड़ने के लिए उत्तर प्रदेश की स्पेशल टॉस्क फोर्स (एसटीएफ) ने पूरे प्रदेश में अभियान चलाया है

एसटीएफ ने मंगलवार देर रात कई जनपदों में छापेमारी की और छापेमारी में सरगना समेत कानपुर से पांच और वाराणसी से तीन सट्टेबाजों को धर दबोचा है. उनके पास से भारी मात्रा में विदेशी मुद्रा और साथ ही भारतीय करंसी के सट्टेबाजी का सामान मिला है.बता दे कि यह लोग दुबई के बुकी से भी सम्पर्क में थे. एसएसपी कुछ ही देर में इसका खुलासा करेंगे.

जानिए कौन कौन हुआ गिरफ्तार
एसटीएफ सूत्रों की माने तो कानपुर, वाराणसी, फतेहपुर और प्रयागराज समेत कई जनपदों में छापेमारी की गई. आईपीएल सट्टेबाज का सरगना कानपुर से जितेन्द्र उर्फ जीतू उसके साथी सुमित, मोहित, आशीष और हिमांशु को गिरफ्तार किया है.

इन लोगों के पास कानपुर से दो लाख पचहत्तर हजार रुपये नगद, पांच लैपटॉप, तीन स्मार्ट टीवी, राऊटर, वाईफाई, अडैप्टर, कनेक्टर, तीस मोबाइल और 375 विदेशी मुद्रा दिरहम समेत आदि समान बरामद किया है.

वाराणसी से अशोक सिंह, सुनील पाल व विक्की खान को भी गिरफ्तार किया है. इनके पास से लाखों रुपये भी बरामद हुए.

छापे में ऑनलाइन बेटिंग बॉक्स बरामद
सूत्रों के मुताबिक कानपुर से ही दो ऑनलाइन बेटिंग बॉक्स भी बरामद किए गए हैं. प्रत्येक बॉक्स से 10-10 बुकी एक साथ ऑनलाइन बेटिंग करते हैं. बेटिंग बॉक्स में माइक वा स्पीकर की भी व्यवस्था रहती है.

कानपुर में छापेमारी के दौरान मौके से फरार सट्टेबाज अजय सिंह वाराणसी के सुंदरपुर का रहने वाला है और उसी की सरपरस्ती में वाराणसी में सट्टेबाजी का बड़ा रैकेट चल रहा था. मौके से एसटीएफ ने उसकी कार और लग्जरी कार को भी बरामद कर लिया है.

मिली जानकारी मुताबिक जीतू के माध्यम से बीस की संख्या मे बूकी ऑनलाइन बेटिंग का काम करते थे। उसके रायपुर ,अजमेर, जयपुर, मुंबई ,दिल्ली व दुबई के बूकी से जीतू के तार जुडे हुए रहते हैं.

यह लोग आईपीएल खत्म होने के बाद कानपुर, लखनऊ, फतेहपुर, वाराणसी, प्रयागराज आदि स्थानों पर जगह बदल-बदल कर रहते और उसी सट्टेबाजी की रकम से कारोबार करने लगते थे. मुख्य आरोपित सरगना और जीतू ने दुबई में रहकर कई वर्षों तक ऑनलाइन ट्रेडिंग का काम किया. बेटिंग कारोबार के पैसे से जीतू ने मुंबई, कानपुर, लखनऊ, फतेहपुर में करोड़ो रुपये के मकान भी खरीदे हैं

हिन्दुस्थान समाचार/दीपक/रामाशीष/राजेश

Trending Tags- VIVO IPL 2019, IPL Highlights, IPL Betting Scam, IPL Spot- fixing, Latest News, Breaking News