heat wave (File Photo)

भोपाल

राजधानी भोपाल सहित प्रदेश के लगभग सभी जिले भीषण गर्मी की चपेट में हैं. प्रदेश में भीषण गर्मी और लू की स्थिति को देखते हुये अस्पतालों में लू से बचाव और इलाज की समुचित व्यवस्था सुनिश्चित की गई है. संचालक स्वास्थ्य सेवाएं डॉ. बी.एन. चौहान ने सभी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी और सिविल सर्जन को निर्देश दिये हैं कि सभी शासकीय अस्पतालों में लू से बचाव एवं इलाज के लिये पर्याप्त व्यवस्था की जाये.

उन्‍होंने निर्देश दिया हैं कि लू-तापघात से ग्रसित रोगियों के उपचार के लिये सभी शासकीय अस्पतालों तथा ग्रामीण क्षेत्रों में डिपो होल्डर, आशा कार्यकर्ता के पास उपलब्धता सुनिश्चित की जाये. ओआरएस घोल व फ्लूड, लू से उपचार के लिये अन्य दवाइयों आदि का पर्याप्त भण्डारण रहे.

एम्बुलेंस 108 को विशेषकर दोपहर में सार्वजनिक स्थलों पर तैयारी की स्थिति में रखा जाये, जिससे किसी व्यक्ति को लू लगने पर उसे तत्काल इलाज के लिये सहायता दी जा सके. सभी बीएमएचओ, सिविल सर्जनों से कहा गया है कि जन-सामान्य को लू-तापघात से बचाव के उपायों की अधिक से अधिक जानकारी दें.

आमजन को धूप और गर्मी से बचने और घर के अंदर हवादार, ठण्डे स्थान पर रहने की सलाह दी गयी है. स्वास्थ्य विभाग ने ग्रीष्म ऋतु के दौरान सड़े-गले फलों एवं बासी व देर से बने भोजन और खाद्य सामग्रियों का सेवन नहीं करने की सलाह दी है.

हिन्‍दुस्‍थान समाचार / उमेद

Leave a Reply