जून माह में थोक मूल्य पर आधारित महंगाई घटकर 2.02 फीसदी पर पहुंची
  • सीजनल फल आम, नासपाती और जामुन की बाजार में आवाक तेज होने की वजह से भी महंगाई में कमी दर्ज की गयी
  • इससे पहले मई में  थोक मूल्य सूचकांक (डब्ल्यूपीआई) 2.45 फीसदी रहा था

नई दिल्ली. थोक मूल्यों पर आधारित महंगाई समाप्त हुए जून माह में घटकर 2.02 फीसदी रह गई. आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक, महंगाई में कमी की मुख्य वजह सब्जियों की कीमतों में नरमी रही.

साथ ही सीजनल फल आम, नासपाती और जामुन की बाजार में आवाक तेज होने की वजह से भी महंगाई में कमी दर्ज की गयी. इससे पहले मई में  थोक मूल्य सूचकांक (डब्ल्यूपीआई) 2.45 फीसदी रहा था.

गत वर्ष की समान अवधि में यह 5.68 फीसदी थी. फूड आर्टिकिल्स आधारित महंगाई में मामूली कमी के साथ 6.98 फीसदी रह गई, जबकि मई में यह आंकड़ा 6.99 फीसदी रहा था. जून में सब्जियों की महंगाई घटकर 24.76 फीसदी रह गई, जबकि पिछले महीने यानी मई में यह 33.15 फीसदी रही थी.

प्याज की कीमतों में बढ़ोतरी का ट्रेंड जारी

प्याज की कीमतों में बढ़ोतरी का ट्रेंड जारी रहा, जिसमें जून में 16.63 फीसदी महंगाई दर्ज की गई. इससे पहले मई में प्याज की महंगाई 15.89 फीसदी रही थी. जून में डब्ल्यूपीआई महंगाई 23 महीने के न्यूनतम स्तर पर पहुंच गई, इससे पहले जून, 2017 में थोक महंगाई 1.88 फीसदी रही थी.

फ्यूल एंड पावर कैटेगरी की महंगाई में 2.20 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई, जबकि पिछले महीने यह आंकड़ा 0.98 फीसदी रहा था. मैन्युफैक्चर्ड आइटम्स की महंगाई जून में घटकर 0.94 फीसदी रह गई, जबकि मई में यह आंकड़ा 1.28 फीसदी रहा था.

हिन्दुस्थान समाचार/गोविन्द

Trending Tags: Market News | Inflation | Aaj Ka Taja Samachar | समाचार

Leave a Comment

%d bloggers like this: