कौन हैं इंद्राणी मुखर्जी जिसकी वजह से फंस गए पी चिदंबरम….

नई दिल्ली. जब से INX मीडिया मामले में इंद्राणी मुखर्जी ने सरकारी गवाह बनकर पूरे खेल का भंडाफोड़ कर दिया था. तभी से कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम की गिरफ्तारी तय मानी जा रही थी.

INX मीडिया केस में पी चिदंबरम (P Chidambaram) को फिलहाल राहत मिलती दिखाई नहीं दे रही है. पी चिदंबरम के ऊपर गिरफ्तारी की तलवार लटकी हुई है.

आज सुबह सीबीआई (CBI) और ईडी की टीमें तीसरी बार बुधवार को उनके घर पर पहुंची पर वो वहां पर नहीं मिले. चिदंबरम के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी किया गया है.

दरअसल पी चिदंबरम पर शिकंजा कसने के पीछे इंद्राणी मुखर्जी और पीटर मुखर्जी के बयान भी हैं. मुखर्जी दंपती के बयान चिदंबरम के खिलाफ जांच एजेंसियों के लिए मजबूत आधार बने हैं.

  • INX मीडिया के प्रमोटर्स मुखर्जी दंपती फिलहाल अपनी बेटी शीना बोरा हत्याकांड में मुख्य आरोपी हैं और जेल में हैं.
  • इंद्राणी ने प्रवर्तन निदेशालय को बताया कि कार्ति से उनकी और पीटर मुखर्जी की मुलाकात दिल्ली के एक होटल में हुई.
  • ईडी को दिए अपने बयान में इंद्राणी ने कहा, ‘पीटर ने चिदंबरम के साथ बातचीत शुरू की और INX मीडिया की अर्जी FDI के लिए है और पीटर ने अर्जी की copy भी उन्हें सौंपी.
  • इंद्राणी ने अपने बयान में कहा, ‘कार्ति ने इस मामले को निपटाने के लिए 10 लाख रुपये रिश्वत मांगी थी. इस मामले में कार्ति चिदंबरम को बीते साल 28 फरवरी को गिरफ्तार भी किया गया था.
  • ये रकम उनके किसी ओवरसीज बैंक अकाउंट या असोसिएट के बैंक अकाउंट में जमा करने को कहा.
  • बयान में इंद्राणी ने कहा है कि INX मीडिया की अर्जी फॉरेन इनवेस्टमेंट प्रमोशन बोर्ड (एफआईपीबी) के पास थी.
  • एफआईपीबी की मंजूरी के बदले चिदंबरम ने पीटर से कहा कि उनके बेटे कार्ति के बिजनेस में मदद करनी होगी.” ईडी ने इस बयान को चार्जशीट में दर्ज किया और इसे कोर्ट में भी सबूत के तौर पर पेश किया.

शीना बोरा हत्याकांड उन मामलों में से एक है जिसके खुलासे ने पूरे देश में सनसनी फैला दी थी. 24 अप्रैल 2012 को अन्य लोगों की मदद से अपनी बेटी शीना बोरा की हत्या करने और शव को पड़ोस के रायगढ़ जिले के एक जंगल में फेंकने के मामले में इंद्राणी को अगस्त 2015 में गिरफ्तार किया गया था.

Leave a Reply

%d bloggers like this: