मोदी सरकार को जोरदार झटका, घटाया GDP ग्रोथ रेट का अनुमान

नई दिल्ली. भारत की सुस्त पड़ी अर्थव्यवस्था पहले ही मोदी सरकार की सिरदर्दी बना हुआ है.ऐसे में एशियाई विकास बैंक यानी की एडीबी ने मोदी सरकार को एक जोरदार झटका दिया है.

मोदी सरकार को झटका-

एशियाई विकास बैंक ने चालू वित्त वर्श के लिए देश की सकल घरेलू उत्पाद यानी की जीडीपी वृद्धि दर का अनुमान घटा दिया है.एडीबी ने आज कुछ आंकड़ों को जारी किया है.जिनके अनुसार 2019-20 भारत की जीडीपी घटकर 7 प्रतिशत के करीब रह सकती है.

एडीबी ने घटाया जीडीपी अनुमान-

एशियन डेवलपमेंट आउटलुक 2019 नामक रिपोर्ट में एडीबी ने कहा है कि वित्त वर्ष 2019-20 में भारत की आर्थिक ग्रोथ रेट 7 फीसदी तक रहेगी.जबकि वित्त वर्ष 2020-21 में यह 7.2 फीसदी तक रह सकती है.आपको बता दें कि यह अनुमान अप्रैल महीने में लगाए गए अनुमान से कम है.
इससे पहले इसी साल अप्रैल में एडीबी ने भारत की आर्थिक ग्रोथ रेट का अनुमान घटाकर 7.2 प्रतिश किया था.जो उससे पहले 7.6 प्रतिशत तक था.

इसलिए घटाई जीडीपी-

एडीबी का कहना है कि वित्त वर्ष 2018 में सरकार को प्राप्त होने वाले राजस्व में कमी आने की वजह से ग्रोथ रेट के अनुमान को घटाया गया है.एडीबी ने भले ही भारत की जीडीपी ग्रोथ को कम किया हो लेकिन उसने दक्षिण एशियाई क्षेत्र की ग्रोथ रेट में तेजी के अनुमान को बरकरार रखा है. वर्ष 2019 में इस क्षेत्र की आर्थिक ग्रोथ रेट 6.6 प्रतिशत और 2020 में 6.7 प्रतिशत रहने का अनुमान है.

फिच भी घटा चुका जीडीपी-

आपको बता दें कि इससे पहले अंतरराष्ट्रीय रेटिंग एजेंसी फिच (FITCH) ने मोदी सरकार को जोरदार झटका दे चुका है. फिच ने वित्त वर्ष 2020 के लिए भारत की जीडीपी ग्रोथ को घटा दिया था.

फिच ने घटाई जीडीपी ग्रोथ की रेट –

फिच (FITCH) ने भारत के विकास दर अनुमान में 0.2 फीसदी तक की कटौती की है. इसी के साथ फिच (FITCH) ने चालू वित्त वर्ष के लिए भारत की जीडीपी ग्रोथ को 6.6 फीसदी तक रहने का अनुमान लगाया है.

पहले भी घटा चुका है जीडीपी ग्रोथ की रेट –

इससे पहले मार्च में भी फिच ने अर्थव्‍यवस्‍था में कमजोरी होने के अनुमान के साथ भारत को तगड़ा झटका दिया था. उस समय ग्लोबल रेटिंग एजेंसी ने अगले फाइनेंशियल ईयर यानी 2019-20 के लिए भारत का (जीडीपी) ग्रोथ अनुमान को 7 फीसदी से घटाकर 6.8 फीसदी कर दिया था.

Leave a Comment

%d bloggers like this: