भारत कोविड-19 प्रोटोकॉल के हिसाब से करेगा करतारपुर कॉरिडोर खोलने पर विचार

kartarpur
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

नई दिल्ली, 03 अक्टूबर(हि.स.) . पाकिस्तान के करतारपुर कॉरिडोर को खोलने के निर्णय के बाद भारत ने कहा है कि वह अपनी तरफ से 4.7 किलोमीटर लंबे करतारपुर कॉरिडोर को खोलने के बारे में कोविड 19 प्रोटोकोल के अनुसार निर्णय करेगा.

करतारपुर कॉरिडोर भारत के गुरदासपुर के डेरा बाबा नानक साहिब और पाकिस्तान के करतारपुर के गुरुद्वारा दरबार साहिब को जोड़ता है.

भारत के विदेश मंत्रालय ने कहा है कि वह भारत के गृह मंत्रालय और स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के संपर्क में है. करतारपुर कॉरिडोर खोलने का निर्णय सभी प्रोटोकॉल्स को और लॉकडाउन के बाद दी जा रही ढील को ध्यान में रखते हुए लिया जाएगा.

नई दिल्ली का यह बयान पाकिस्तान के संबंधित मंत्रालय द्वारा जारी की गई अधिसूचना के जवाब में है, जिसमें पाकिस्तान ने करतारपुर कॉरिडोर को अपने तरफ से खोलने की अनुमति दी है.

नई दिल्ली ने यह भी कहा कि पाकिस्तान अभी तक बूढ़ी रावी चैनल पर पुल का निर्माण करने में असमर्थ रहा है जबकि इस पुल के निर्माण संबंधी फैसला इस यात्रा के शुरू होने के साथ ही हो गया था.

पिछले साल इस यात्रा के शुरू होने के साथ अक्टूबर 2019 में द्विपक्षीय समझौते में यह तय किया गया था कि दोनों देश अपने तरफ की आधारभूत संरचना को विकसित करेंगे, जिसमें बूढ़ी रावी चैनल के ऊपर पुल बनाना भी तय हुआ था लेकिन पाकिस्तान की तरफ से इस पुल का निर्माण अभी तक लंबित है. कोविड-19 के शुरुआत के बाद दोनों देशों ने अपनी तरफ से इस रास्ते को बंद कर दिया था.

हिन्दुस्थान समाचार/मुरारी कुमार