सीख लो कुछ चीन से भी, रोक लो आबादी

आर. के. सिन्ह

  • यदि सरकार देश में आबादी को रोकने के लिए भी कोई ठोस नीति लेकर आए तो इसका चौतरफा स्वागत ही होगा
  • भारत को दिल से चाहने वाला हरेक नागरिक बाबा रामदेव की सलाह के साथ खड़ा होगा

17 वीं लोकसभा चुनाव की सारी प्रक्रिया अब पूरी हो चुकी है और केन्द्र में नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन सरकार (एनडीए) ने अपना कामकाज फिर से शुरू कर दिया है. 

यूं तो इस सरकार को देश हित में बहुत से अहम निर्णय लेने हैं, यदि सरकार देश में आबादी को रोकने के लिए भी कोई ठोस नीति लेकर आए तो इसका चौतरफा स्वागत ही होगा. 

अब इस मसले पर अविलंब निर्णय लेने की आवशयकता है. वैसे ही हमने अपनी आबादी को कम या काबू में करने में भारी देरी कर दी है. इसके पीछे लंबे समय तक सत्तासीन पार्टियों की वोट की राजनीति ही जिम्मेदार थी. 

एक खास समुदाय को खुश करके उनके वोट हथियाने के लिए कभी भी सत्ताधारी नेताओं ने आबादी को रोकने के संबंध में सोचा ही नहीं.  इसी सोच के कारण उस खास समाज को भी भारी नुकसान हुआ. वह विकास की दौड़ से पिछड़ गये .

इस बीच, योग गुरु बाबा रामदेव ने देश में जनसंख्या नियंत्रण के लिए कानून लाए जाने का पक्ष लेते हुए हाल ही में कहा कि दो बच्चों के बाद पैदा होने वाले बच्चे को मताधिकार, चुनाव लड़ने के अधिकार और अन्य सरकारी सुविधाओं से वंचित कर दिया जाना चाहिए. 

भारत को दिल से चाहने वाला हरेक नागरिक बाबा रामदेव की सलाह के साथ खड़ा होगा. मैं यह जरूर कहूँगा कि बच्चों को मताधिकार से क्यों वंचित किया जाय ? क्यों न तीन बच्चों को पैदा करने वाले पति-पत्नी को मताधिकार से वंचित करने की सजा दी जाए. 

बाबा रामदेव ने देश के सामने उस मसले के हल को पेश किया जिससे देश जूझ रहा है. दरअसल बढ़ती हुई आबादी देश को दीमक की तरह से चाट रही है. 

बढ़ती आबादी को विकास का पूरा लाभ कोई भी सरकार कैसे दे सकती है. हमारी सारी विकास परियोजनाओं की सफलता के रास्ते में सदैव आबादी एक बड़े अवरोध के रूप में खड़ी हो जाती है.

पूरा लेख पढ़ें युगवार्ता के 09 जून के अंक में… 

Trending Tags- China Population |China one Child Policy | China Child Policy 2019

2 thoughts on “सीख लो कुछ चीन से भी, रोक लो आबादी”

  1. Pingback: site here
  2. Pingback: https://astrow.pl/

Leave a Comment

%d bloggers like this: