तुर्की के बयान के बाद बढ़ा तनाव, भारत ने पर्यटकों के लिए जारी की एडवाइजरी, दिए ये निर्देश

नई दिल्ली. भारत सरकार ने तुर्की जाने वाले नागरिकों के लिए एडवाइजरी (Advisory) जारी की है. कश्मीर मुद्दे (Kashmir) को उकसाने में जुटे तुर्की की सरकार को भारत ने एक बार फिर कड़ा कूटनीतिक संदेश दिया है. सरकार ने सभी भारतीयों को अतिरिक्त सतर्कता बरतने का निर्देश दिया है.

बता दें कि तुर्की (Turkey) ने कश्मीर मुद्दे को लेकर पाकिस्तान का समर्थन किया था. जिसके बाद से ही भारत और उसके रिश्ते तल्ख हो गए हैं. विदेश मंत्रालय ने एडवाइजरी जारी कर नागरिकों को तुर्की जाने से बचने की सलाह दी है. पीएम को सऊदी अरब होते हुए तुर्की जाना था, लेकिन अब उन्होंने अपना वो दौरा रद्द कर दिया है.

एडवाइजरी में सावधानी बरतने का अनुरोध किया गया है. तुर्की और सीरिया के बीच चल रहे विवाद और जम्मू-कश्मीर के मसले पर तुर्की के रुख के बीच ये एडवाइजरी जारी की गई है.

तुर्की में मौजूद भारतीय दूतावास (Embassy of India) द्वारा जारी एडवाइजरी में लिखा गया है, ‘भारत सरकार के पास लगातार तुर्की में यात्रा करने को लेकर सवाल किए जा रहे थे, तुर्की के ताजा हालातों को देखते हुए लोग काफी चिंतित लग रहे हैं. वहीं कश्मीर मामले पर तुर्की द्वारा पाकिस्तान के समर्थन देने के बाद भारत ने अपनी दूरी बरतने का संकेत दिया है.

विदेश मंत्रालय (Foreign Ministry) के सूत्रों के मुताबिक तुर्की के साथ भारत के रिश्ते पुराने जरुर हैं लेकिन ये इतने गहरे नहीं है कि भारत अपने मूल सिद्धांत को नुकसान होने दे. दोनो देशों के बीच द्विपक्षीय कारोबार तकरीबन 8 अरब डॉलर का है जो बहुत खास नहीं है.

तुर्की के राष्ट्रपति रिजेब तैय्यप अर्दोआन ने हाल ही में अपनी पार्टी की एक बैठक में कथित तौर पर तुर्की को न्यूक्लियर पावर बनाने की इच्छा जाहिर की है. इसके बाद से ही इस बात के कयास लगने लगे हैं कि क्या पाकिस्तान ने तुर्की को परमाणु तकनीक बेची है.

Leave a Comment

%d bloggers like this: