चीन ने उगला जहर, भारत को दी पाकिस्‍तान और नेपाली सेना से युद्ध की धमकी

China-Xi-Jinping
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp
  • चीनी मीडिया ने भारत को दी पाकिस्‍तान और नेपाली सेना की धमकी.
  • सरकारी समाचार पत्र ग्लोबल टाइम्स की गीदड़भभकी.

लद्दाख में भारत-चीन के बीच हुई हिंसक झड़प के बाद चीन लगातार जहर उगल रहा है. चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के मुखपत्र ग्लोबल टाइम्स ने चेतावनी दे डाली है कि अगर सीमा पर तनाव जारी रहता है तो भारत को चीन, पाकिस्तान और नेपाल से सैन्य दबाव का सामना करना पड़ सकता है.

दरअसल शंघाई अकेदमी ऑफ सोशल साइंसेज के इंस्टीट्यूट ऑफ इंटरनेशनल रिलेशंस के शोध सहयोगी हू झिओंग का हवाला देते हुए समाचार पत्र ग्लोबल टाइम्स में प्रकाशित एक संपादकीय में कहा गया है कि भारत का चीन, पाकिस्‍तान और नेपाल के साथ सीमा विवाद चल है.

मुखपत्र में कहा गया है कि पाकिस्‍तान चीन का एक विश्‍वसनीय रणनीतिक‍ि साझेदार है. तो वहीं नेपाल से भी चीन के संबंध काफी अच्छे हैं. पाकिस्‍तान और चीन दोनों ही चीन प्रस्‍तावित बेल्‍ट एडं रो इनिशिएटिव के तहत महत्‍वपूर्ण साझेदार हैं. अगर भारत सीमा पर तनाव बढ़ाता है तो वो दो या दो से अधिक मोर्चों पर सैन्‍य दबाव का सामना कर सकता है. तीन मोर्चों पर सामना करना भारत की सैन्‍य क्षमता के परे की बात है. ये भारत के लिए विनाशकारी हो सकता है.

चीनी समाचार पत्र में ये भी कहा गया कि भारतीय सेना के इस खतरनाक कदम ने सीमा मुद्दे पर दोनों देशों के बीच हुए समझौते और अंतरराष्ट्रीय संबंधों के मूल मानदंडों का गंभीर उल्लंघन किया है. भारत को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि ऐसी घटनाएं दोबारा न हों. भारत को वर्तमान स्थिति को गलत ढंग से नहीं लेना चाहिए और उसे क्षेत्रीय संप्रभुता की रक्षा की चीन की क्षमता को कम नहीं आंकना चाहिए. भारतीय सैनिकों ने चीनी सैनिकों को उकसाया है, इसलिए सीमा पर 20 भारतीय सैनिकों की मौत के लिए वो खुद जिम्‍मेदार है.

दूसरी तरफ चीन ने अपनी करतूत को छिपाने के लिए राज्‍य मीडिया के हवाले से 15 जून की घटना की जांच की मांग की है. चीन ने कहा है कि भारत को इस घटना की पूरी जांच करनी चाहिए, जिसमें कर्नल रैंक के अधिकारी समेत 20 भारतीय सेना के जवानों की मौत हो गई.   

चीन भले ही शांतिपूर्ण समाधान की बात कर रहा हो, लेकिन मीडिया के जरिए वो भारत को धमकाने में लगा हुआ है. लद्दाख में हुए तनाव को लेकर चीन का ये टेबलायड न्यूज़पेपर ग्लोबल टाइम्स लगातार भारत पर इस झड़प का आरोप लगा रहा है. तो वहीं अब वो भारत को इस गतिरोध के गंभीर परिणाम भुगतने की गीदड़भभकी दे रहा है. अब इस बयान के बाद नई दिल्‍ली और बीजिंग के बीच द्विपक्षीय तनाव और बढ़ने की आशंका है.