भारत-चीन हिंसक झड़पः विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने चीनी विदेश मंत्री से की बात

S. Jaishankar
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

लद्दाख में भारत-चीन के बीच हुई हिंसक झड़प के बाद मामला बेहद नाजुक हो गया है. इस घटना को लेकर भारत में काफी गुस्सा देखा जा रहा है. पीएम मोदी ने भी शहीदों को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि उनका बलिदान कभी व्यर्थ नहीं जाएगा.

इस बीच भारत के विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने चीन के विदेश मंत्री वांग यी से बात की है. और पूरी घटना की जानकारी दी है. जानकारी के मुताबिक दोनों के बीच सीमा पर तनाव को कम करने के मुद्दे पर बात हुई है. इस बातचीत के बाद चीनी विदेश मंत्रालय की ओर से एक बयान भी जारी किया गया है.

चीनी विदेश मंत्रालय के बयान के अनुसार दोनों देशों के बीच सीमा पर तनाव को कम करने के लिए सहमति बनी है. दोनो देशों के सैन्य अधिकारियों के बीच अभी तक हुई बैठकों के आधार पर ही बातचीत को आगे बढ़ाया जाएगा.

पीएम मोदी की चेतावनी

वहीं पीएम मोदी ने इस घटना पर चीन को सख्त चेतावनी दी है. पीएम मोदी ने कहा कि भारत शांति चाहता है. और अपने पड़ोसियों से दोस्ती रखना चाहता है. लेकिन इसके लिए वो अपनी अखंड़ता से कोई समझौता नहीं करेगा. इस तरह की घटनाओं का उचित जवाब दिया जाएगा.

पीएम ने कहा कि हम किसी को कभी उकसाते नहीं है लेकिन अगर कोई हमें उकसाता है तो हर तरीके से जवाब देने में सक्षम हैं. उन्होंने कहा कि किसी को इस बात का भ्रम नहीं पालना चाहिए कि भारत उकसाने पर चुप बैठेगा.

आर्मी चीफ ने दी श्रद्धांजलि

वहीं आर्मी चीफ जनरल एमएम नरवने ने शहीद जवानों को सलामी देते हुए कहा कि हम देश की संप्रभुता और अखंडता की रक्षा के लिए अपने संकल्प में मजबूत खड़े हैं. उनका बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा.