भारत-चीन हिंसक झड़पः पिथौरागढ़ में चीन सीमा पर ITBP और सेना ने गश्त बढ़ाई

India-China Border
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

लद्दाख की गलवान घाटी में भारत और चीन के सैनिकों के बीच हुई हिंसक झड़प के बाद सैन्य गतिविधियों में काफी हलचल देखने को मिल रही है. चीन से उत्तराखंड के बॉर्डर पर सैनिकों की संख्या बढ़ा दी गई है. पिथौरागढ़ से लगी चीन सीमा पर भी सुरक्षा कड़ी कर दी गयी है. आज सुबह से ही सीमा पर सेना की हलचल बढ़ गयी है.

हालांकि अभी यहां ऐसा कोई मामला सामने नहीं आया है लेकिन एहतियातन चीन सीमा पर तैनात आईटीबीपी और सेना ने गश्त बढ़ा दी है. लद्दाख की घटना से सीमांत क्षेत्र के लोगों मे भी तीखा आक्रोश देखने को मिल रहा है. लोगों ने भारतीय शहीदों को श्रद्धांजलि देते हुए चीन के इस कदम की कड़ी निंदा की है.

साथ ही लोगों ने चीन को कड़ा सबक सिखाने की बात भी कही है. स्थानीय लोगों का कहना है कि भारतीय सेना को चीन की हर हिमाकत का उसके ही शब्दों में जवाब देना चाहिए. उन्होंने कहा कि भारत किसी भी तरह से चीन से कमजोर नहीं है.

चीन की सेना ने पिथौरागढ़ से लगी लिपुलेख सीमा पर पिछले दिनों दिनों अस्थिरता फैलाने की कोशिश की थी लेकिन भारतीय जवानों ने चीन के सैनिकों को वापस लौटने को मजबूर कर दिया था.

वहीं इस घटना को पीएम मोदी काफी गंभीरता से ले रहे हैं. पीएम मोदी लगातार हालात पर नजर बनाए हुए हैं. और लगातार बैठकें करके ताजा जानकारी ले रहे हैं. बुधवार रात प्रधानमंत्री आवास पर रक्षामंत्री राजनाथ सिंह और विदेश मंत्री एस जयशंकर ने पीएम नरेंद्र मोदी से मुलाकात की, जहां लद्दाख के हालातों पर चर्चा हुई.

हिन्दुस्थान समाचार/नीरज