नौ मिनट में बंगाल में जलाए गए छह करोड़ के पटाखे, प्रदूषण लेवल कई गुना बढ़ा

Bomb | Samachsr In Hindi.
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

कोलकाता, 06 अप्रैल (हि.स.). कोरोना महामारी से पीड़ित लोगों के साथ एकजुटता जताने के लिए एक दीया जलाने के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान को पटाखे फोड़ कर विफल करने वालों ने प्रदूषण के लेवल को कई गुना बढ़ा दिया है. 

लॉकडाउन की वजह से पूरे देश में कल कारखाने, कंपनियां, संस्थान, लगातार कार्बन उत्सर्जन करती गाड़ियां बंद हैं. इसलिए हवा का प्रदूषण लेवल धीरे-धीरे स्वच्छ हो रहा था. लेकिन प्रधानमंत्री के आह्वान के अनुसार रविवार रात नौ बजे से नौ मिनट के लिए दीप जलाने के कार्यक्रम के साथ कोलकाता समेत पूरे बंगाल में लोगों ने जमकर पटाखे छोड़े हैं.

कोलकाता में तो पुलिस ने 98 लोगों को गिरफ्तार भी किया है. सोमवार को पता चला है कि पूरे राज्य में कम से कम छह करोड़ के पटाखे चलाए गए हैं. हालांकि ये पटाखे  कहां से बेचे गए और प्रशासन इसे लेकर निष्क्रिय क्यों बना रहा, इस पर सवाल खड़े हो रहे हैं. 

इसे लेकर पटाखा विक्रेता एसोसिएशन के अधिकारी बाबला रॉय से जब संपर्क किया गया तो उन्होंने बताया कि जब पूरे देश में लॉकडाउन चल रहा था तब पटाखा विक्रेताओं ने रविवार को जमकर आमदनी की है. उन्होंने बताया कि केवल नौ मिनट में कोलकाता समेत पूरे राज्य में करीब छह करोड़ के पटाखों की बिक्री हुई है.

उनसे जब पूछा गया कि लॉकडाउन में कहां बैठकर पटाखों की बिक्री हुई, तब उन्होंने बताया कि चूंकि प्रधानमंत्री ने शुक्रवार को ही दीए जलाने का आह्वान कर दिया थे इसीलिए इस बात का एहसास हो गया था कि दीए जलाने के साथ-साथ लोग पटाखे भी फोड़ सकते हैं. इसलिए कोलकाता समेत राज्य भर के विभिन्न क्षेत्रों में जो लोग पटाखे बेचते हैं उनके पास आकर लोग ऑर्डर देकर चले गए थे और पहले से मौजूद स्टॉक की बिक्री आसानी से घर से ही हुई.

छह गुणा बढ़ा प्रदूषण लेवल

इधर जबरदस्त आतिशबाजी के कारण कोलकाता समेत राज्य भर की हवा का प्रदूषण लेवल कई गुना बढ़ चुका है. विश्व स्वास्थ्य संगठन के नियमानुसार हवा में धूलकण की मात्रा 25 माइक्रोन से अधिक नहीं होनी चाहिए. रविवार रात सिर्फ नौ मिनट की आतिशबाजी के वजह से यह मात्रा छह गुना बढ़ गया था. रविवार रात कोलकाता में एयर क्वालिटी इंडेक्स 156 पर था जो स्वास्थ्य के लिए नुकसानदायक है. हालांकि सोमवार सुबह तक एक बार फिर यह धीरे-धीरे सामान्य होने की ओर बढ़ चला है. हिन्दुस्थान समाचार / ओम प्रकाश/सुगंधी/मधुप