पीएम मोदी के शपथ ग्रहण में पाकिस्तान-मालदीव को छोड़ सार्क के सभी देश होंगे शामिल

  • सरकार की ओर से बयान जारी करते हुए कहा गया कि मुक्ति संग्राम मामलों के मंत्री ए के एम मुजामिल हक पीएम के शपथ ग्रहण समारोह में शिरकत करेंगे
  • बिम्सटेक में भारत के अलावा बांग्लादेश, म्यांमार, श्रीलंका, थाईलैंड, नेपाल और भूटान शामिल हैं

नई दिल्ली. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद 30 मई को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाएंगे. पीएम के शपथ ग्रहण समारोह में बिम्सटेक समूह के नेताओं को आमंत्रित किया गया है.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने बताया कि शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) के वर्तमान अध्यक्ष एवं किर्गिस्तान के राष्ट्रपति और मारीशस के प्रधानमंत्री भी शपथ ग्रहण समारोह के लिए आमंत्रण भेजा गया हैं.

बिम्सटेक का हिस्सा नहीं है पाक और मालदीव

बिम्सटेक में पाकिस्तान, मालदीव को छोड़कर सार्क के अन्य देश शामिल हैं. भारत सरकार पाकिस्तान से आतंकवाद के मुद्दे पर तनाव के बाद से सार्क के विकल्प के तौर पर बिम्सटेक को प्रोत्साहित करने की कोशिश में लगी हुई है.

बिम्सटेक में भारत के अलावा बांग्लादेश, म्यांमार, श्रीलंका, थाईलैंड, नेपाल और भूटान शामिल हैं. साल 2016 में उरी की घटना के बाद से पाकिस्तान में आयोजित सम्मेलन रद्द होने के बाद से सार्क की बैठक दोबारा नहीं हो सकी.

PM मोदी के शपथग्रहण समारोह में शिरकत नहीं कर पाएंगी शेख हसीना

बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में दूसरी बार भी हिस्सा नहीं ले पाएंगी. विदेश में रहने के कारण हसीना वर्ष 2014 में भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शपथग्रहण समारोह में शामिल नहीं हो सकी थी.

इसकी प्रमुख वजह यह है कि हसीना का मंगलवार से तीन देशों का दौरा शुरू हो रहा है.सरकार की ओर से बयान जारी करते हुए कहा गया कि मुक्ति संग्राम मामलों के मंत्री ए के एम मुजामिल हक पीएम के शपथ ग्रहण समारोह में शिरकत करेंगे.

Trending Tags- India | Pakistan | Narendra Modi | Oath of Narendra Modi | Imran Khan | Politics News | Latest Politics News | Oath | News Today