असम में बाढ़ का कहर बरकरार, 21 जिलों के 8,69,024 लोग प्रभावित
  • असम में बाढ़ का प्रकोप जारी.
  • बाढ़ से लोग हुए परेशान.
  • लोग अपना घर छोड़ सुरक्षित स्थान पर जाने को हुए मजबूर.
  • बाढ़ से अब तक चार लोगों की मौत.
  • भूस्खलन से दो लोगों की मौत.
  • बाढ़ से फसल का भी हुआ भारी नुकसान.

गुवाहाटी. असम समेत पड़ोसी राज्यों में लगातार हो रही बरसात के चलते राज्य में बाढ़ के हालात बद से बदतर होते जा रहे हैं. बाढ़ से अब तक चार लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि दो लोगों की भूस्खलन के चलते मौत हुई है.

राज्य के आपदा प्रबंधन विभाग ने अपने आंकड़े जारी किए है. आंकड़ो के अनुसार असम के 33 जिलों में से 21 जिलों के 68 राजस्व सर्किल के 1556 गांवों में बाढ़ का पानी प्रवेश कर चुका है. जिसकी वजह से 8,69,024 लोग प्रभावित हुए हैं.

बाढ़ के पानी में कुल 27,864.16 हेक्टेयर में खड़ी फसल डूब गई है. लोगों को अपने घरों को छोड़कर राहत शिविरों और ऊंचाई वाले स्थानों पर शरण लेने को मजबूर होना पड़ा है.

प्रशासन ने कुल 68 राहत शिविर स्थापित किए हैं. जबकि राहत सामग्रियों का वितरण करने के लिए कुल 7,643 केंद्र स्थापित किए गए है. बाढ़ के चलते शुक्रवार को तीन व्यक्तियों की मौत हुई है. जिसमें गोलाघाट में बाढ़ से दो और डिमा हसाउ जिले में एक व्यक्ति की मौत भूस्खलन से हुई है.

बाढ़ और भूस्खलन के चलते तीन लोगों की मौत हुई थी. जिसमें गोलाघाट जिले में एक, धेमाजी जिले में एक की बाढ़ से साथ ही कामरूप (मेट्रो) जिले में एक व्यक्ति की भूस्खलन के चलते मौत हुई है.

बाढ़ के कारण 1,98,117 बड़े, 1,08,739 छोटे पालतु पशु और 2,63,137 पोलेट्री भी प्रभावित हुए हैं. बाढ़ में फंसे लोगों को राहत पहुंचाने के लिए एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की टीम पूरी मुश्तैदी के साथ लगी हुई है.

हिन्दुस्थान समाचार /अरविंद

Leave a Comment

%d bloggers like this: