FWICE और सिंटा की बैठक में लिए गए अहम फैसले

HS (1)
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

नई दिल्ली: मनोरंजन जगत में महाराष्ट्र सरकार ने कुछ शर्तों के साथ शूटिंग शुरू करने की इजाजत दे दी गई है. लेकिन शूटिंग शुरू करने से पहले एफडब्लूआईसीई (फेडरेशन ऑफ वेस्टर्न इंडिया सिने इम्प्लॉई) और सिंटा (सीने एंड आर्टिस्ट्स एसोसिएशन)  ने प्रोड्यूसर्स से मनोरंजन जगत के सभी कर्मचारियों के हित का ध्यान रखते हुए कुछ मांगे की थी,जिसमें लॉकडाउन शुरू होने से पहले सभी सदस्यों की बकाया राशि का भुगतान करने की बात भी कही गई थी.

जिसके बाद 22 जून को एफडब्लूआईसीई और सिंटा की बैठक हुई,जिसमें निर्माताओं पर बकाया राशि का भुगतान समय से न करने का आरोप लगाया गया है. इसके साथ ही एफडब्लूआईसीई  और सिंटा ने इसकी निंदा भी की. ये बैठक मनोरंजन जगत के लिए बहुत महत्वपूर्ण है.

हालांकि कोरोना काल को देखते हुए ये बैठक वर्चुअल ज़ूम मीट के जरिये संपन्न हुई . एफडब्लूआईसीई और सिंटा की इस संयुक्त मीटिंग में कई अहम निर्णय लिए गए. इस बैठक में एफडब्लूआईसीई के प्रेसिडेंट बी एन तिवारी और कोषाध्यक्ष गंगेश्वर श्रीवास्तव के अलावा सिंटा की ओर से सीनियर वाइस प्रेसिडेंट मनोज जोशी,सीनियर जोवाइंट सेक्रेटरी अमित बहल, ज्वाइंट सेक्रेटरी राजेश्वरी सचदेव, ईसी मेंबर में श्री राशिद मेहता, श्री संजय भाटिया और अयूब खान मौजूद थे. 

इसकी जानकारी एफडब्लूआईसीई ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर दी. जिसमें साफ कहा गया है कि-‘ प्रेस विज्ञप्ति जारी करने के बाद भी बहुत सी शिकायतें आ रही है काम करने की शर्तो को लेकर, भुगतान करने और काम करने के घंटो को लेकर. इसके सम्बन्ध में प्रोड्यूसर्स एसोसिएशन के साथ पहले कई मीटिंग हुई,लेकिन इसका कोई सकारात्मक परिणाम सामने नहीं आया. इसमें अभी अनिश्चितता है. हमारी हमेशा यही कोशिश रही है कि हम उन्हें अच्छे से सपोर्ट करे और जिसपर हमने चिंता भी जताई है ,लेकिन इन सब के बावजूद उन्होंने इसे लेकर कोई स्पष्टता नहीं दिखाई और भ्रम की स्थिति बनाये रखी. बहुत सारे निर्माता हमारे मेंबर्स को शूटिंग के लिए बुला रहे हैं.इससे शूटिंग शुरू होने से पहले ही एक भ्रम का माहौल बना. 

एफडब्लूआईसीई और सिंटा के जितने भी सदस्य है चाहे वह एक्टर्स हो,टेक्नीशियन हो या वर्कर.वह चाहते है शूट शुरू होने से पहले भुगतान कर दिया जाये. एफडब्लूआईसीई के प्रेसिडेंट बी एन तिवारी ने इस बैठक में लिए जाने वाले महत्वपूर्ण फैसलों के बारे में जानकारी दी. इस बैठक में जो निर्णय लिए गए है वह निम्न है:

1 .शिफ्ट आठ घंटे की ही होनी चाहिए.

2 .दैनिक वेतन भोगी कलाकारों/श्रमिकों/ तकनीशियनों का भुगतान  दिन समाप्त होने से पहले होना चाहिए .
3 .सभी संविदा कर्मचारियों को  30 दिन के भीतर भुगतान करना होगा.
4 .सभी कर्मचारियों को दिन खत्म होने से पहले उनके आने जाने का भाड़ा देना होगा.
5 . साप्ताहिक अवकाश आवश्यक होगा .

6 . स्वास्थ्य और सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए सरकार द्वारा जारी किये गए दिशा निर्देशों का पालन सख्ती से करना होगा.

7 .कोविड-19 विशिष्ट कवरेज के साथ स्वास्थ्य और जीवन बीमा. अगर किसी अभिनेता/श्रमिक/तकनीशियन की मौत हो जाती है, तो हम उनके लिए 50 लाख रुपये की बीमा योजना की मांग करते हैं.
8 . काम करने वाले किसी भी एक्टर/तकनीशियन/ वर्कर का उनकी मर्जी के बगैर भुगतान नहीं काटना होगा.
9 .कुल मेहनताना को कम करने की बात से इंकार करने पर किसी भी अभिनेता/श्रमिक/तकनीशियन को काम  से  नहीं निकाला जाएगा.
10 . सभी लोकेशंस पर एम्बुलेंस के साथ डॉक्टर/पारामेडिकल स्टाफ मौजूद रहेंगे.

हिन्दुस्थान समाचार/सुरभि सिन्हा