टल सकती है आईएमएफ और विश्व बैंक की सालाना बैठक

कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप और प्रसार से चिंतित अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष और विश्व बैंक अप्रैल में होने वाली सालाना बैठक काे टालने या फिर टेलीकांफ्रेंस करने पर विचार कर रहे हैं.

दोनों संस्थानों की वाशिंगटन-डीसी में 17-19 अप्रैल की प्रस्तावित सालाना बैठक में दुनिया भर के 10 हजार सरकारी अधिकारियों, पत्रकारों, व्यवसायियों और नागरिक समाज के प्रतिनिधियों के आने का कार्यक्रम है. लेकिन कोरोना वायरस के बढ़ते प्रसार ने आईएमएफ और विश्व बैंक की चिंता बढ़ा दी है. सालाना बैठक में 189 सदस्य देशों के प्रतिनिधियों के बीच निकट संपर्क से अनजाने में समस्या और बढ़ सकती है.

एक संयुक्त बयान में आईएमएफ और विश्व बैंक ने कहा कि उनके वरिष्ठ अधिकारियों का दल कोरोना वायरस के प्रसार की बारीकी से निगरानी कर रहा है. बैठकों को अभी रद्द करने का फैसला नहीं लिया गया है. बैठक को दूसरे ढंग से कराने के कई विकल्पों पर विचार किया जा रहा है. यह बहुत कुछ आने वाले दिनों और हफ्तों में कोरोना वायरस के फैलाव को रोकने के प्रयासों की सफलता पर निर्भर करता है. विकल्पों में बैठकों की संख्या को कम करना और देशों के प्रतिनिधिमंडलों के आकार को छोटा करना शामिल है. एक अन्य विकल्प टेलीकांफ्रेंस द्वारा ‘वर्चुअल’ मीटिंग आयोजित करना है.

इससे पहले 11 सितम्बर, 2001 को न्यूयॉर्क और वाशिंगटन पर हुए हमलों के बाद आईएमएफ और विश्व बैंक ने अमेरिका की राजधानी में उस महीने आयोजित होने वाली बैठकों को रद्द कर दिया था. इन बैठकों को कनाडा के ओटावा में आयोजित किया गया था.

हिन्दुस्थान समाचार/राकेश सिंह

Leave a Reply

%d bloggers like this: