Pm Modi
  • Share Market के इस प्रदर्शन को देखकर एक्सपर्ट का कहना है कि बाजार लंबी छलांग की तैयारी कर रहा है
  • कार्वी की रिपोर्ट के मुताबिक इस साल के अंत तक SENSEX 45000 के स्तर को छू सकता है. वहीं, निफ्टी भी 14000 के स्तर को पार कर सकता है

नई दिल्ली. फाइनेंस ईयर 2018-19 में शेयर बाजर ने अच्छी बढ़त दिखाई है. इस वित्त वर्ष में बाजार का प्रदर्शन शानदार रहा है. पिछले कुछ सालों के आंकड़ो पर नजर डाली जाए तो इस वित्त वर्षों में शेयर बाजार का प्रदर्शन सबसे शानदार रहा है.

लंबी छलांग की तैयारी में बाजार-

Share Market के इस प्रदर्शन को देखकर एक्सपर्ट का कहना है कि बाजार लंबी छलांग की तैयारी कर रहा है. अगर सबकुछ ठीक रहा तो शेयर बाजार नई ऊंचाइयों तक पहुंचेगा. कुछ ही दिनों में लोकसभा चुनाव शुरू होने वाले हैं ऐसे में बाजार की निगाहें आम चुनाव पर हैं.

रिपोर्ट में हुआ खुलासा-

हाल ही के दिनों में आई कार्वी की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि 2019 में एक बार फिर सत्ता में बीजेपी की वापसी होगी.लेकिन पिछली बार के मुकाबले उसकी सीटे कम रहने वाली हैं. रिपोर्ट के अनुसार बीजेपी की सत्ता में वापसी बाजार को पंसद आ रही है. बाजार इन नतीजों का खुशी के साथ स्वागत करने वाला है.कार्वी की रिपोर्ट के मुताबिक इस साल के अंत तक SENSEX 45000 के स्तर को छू सकता है. वहीं, निफ्टी भी 14000 के स्तर को पार कर सकता है.

नहीं लुढ़का बाजार-

अक्सर चुनाव के आते ही शेयर बाजार बुरी तरह लुढ़कना शुरु कर देता है.मगर इस बार बाजार लगातार एक के बाद एक ऊचांईयों पर जाने के रिकॉर्ड को तोड़ रहा है. विदेशी पोर्टफोलियो निदेशक तो कुछ ज्यादा ही सावधानी से निवेश करने लगते हैं. लेकिन इस बार बाजार में ऐसा नहीं देखने को मिल रहा है. इस बार निवेशकों का भारोसा बाजार पर बना हुआ है. 

निवेशकों का भरोसा-

इस बार शेयर बाजर में मंदी का असर नहीं देखने को मिल रहा है. निवेशकों ने बाजार पर भरोसा बरकरा रखा हुआ है. पिछले एक महीने में विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफ़पीआई) ने रिकॉर्ड खरीदारी की है.

सिर्फ मार्च के महीने में अब तक विदेशी पोर्टफोलिया निवेशक 34 हज़ार करोड़ रुपए से अधिक की ख़रीदारी कर चुके हैं, जो कि भारतीय शेयर बाज़ार के इतिहास में अब तक किसी महीने में सबसे अधिक ख़रीदारी का रिकॉर्ड है.निवेशकों के भरोसा है कि उनका पैसा पूरी तरीके से सुरक्षित है क्योंकि मोदी सरकार फिर से सत्ता में वापसी करेगी.

निवेशकों को होगा अरबों का फायदा-

बता दें कि भारतीय शेयर बाजार में विदेशी निवेशकों के साथ-साथ घरेलू निवेशक भी पैसा लगते है.इसके अलावा म्युचूअल फंड, इंश्योरेंस कंपनियां, ईपीएफओ भी शेयर बाजार में पैसा लगाते है.

ऐसे में एक्सपर्ट्स की मानें तो शेयर बाजार में तेजी आते ही इन सभी को बड़ा मुनाफा मिलेगा.ऐसे में घरेलू निवेशकों के पास मोटी कमाई का बड़ा मौका रहेगा. वहीं मीडिया रिपोर्ट की मानें तो अगर NDA हारती है तो बाजार अस्थिर हो जाएगा. जिससे सेंसेक्स 30000 के नीचे और निफ्टी 9000 के आसपास तक फिसल सकता है.

Trending Tags: Share Bazar | Nifty | Sensex | Mutual fund | Share market update