कानपुरः लॉकडाउन के दौरान भुखमरी से किसी की मौत होने पर जनप्रतिनिधि पर होगी कार्रवाई- जिलाधिकारी

कानपुर में लॉकडाउन के दौरान किसी नागरिक की मौत नहीं हो सकती है. जिलाधिकारी ब्रह्म देव राम तिवारी ने स्पष्ट आदेश दिया है कि जनप्रतिनिधि अपने क्षेत्र की जनता का ध्यान रखें. और उन्हें शासन और प्रशासन की योजनाओं का लाभ दिलवाएं. जिलाधिकारी ने विज्ञप्ति जारी करके सभी जनप्रतिनिधियों को ये जिम्मेदारी है.

विज्ञप्ति में जिलाधिकारी ने सभी ग्राम प्रधान, पंचायत सदस्यों और सचिवों को जिम्मेदारी सौंपी है कि कोरोना महामारी के दौरान उनके क्षेत्र में भुखमरी, कुपोषण और अन्य किसी कारण से आत्महत्या अथवा आत्महत्या का प्रयास जैसी घटनाएं सामने नहीं आनी चाहिए.

जिलाधिकारी ने निर्देश दिया है कि गांव में किसी की भी यदि भूख से, कुपोषण से मौत होती है, या गरीबी, बेरोजगारी और कर्ज से कोई आत्महत्या करता है तो उसके लिए जनप्रतिनिधि साफ तौर पर जिम्मेदार होंगे. ऐसे लोगों पर कड़ी प्रशासनिक कार्रवाई की जाएगी.

इसके अलावा जनप्रतिनिधि अपने क्षेत्र में कोरोना को फैसले से रोकने के लिए जागरुकता फैलाएं. लोग सोशल डिस्टेंस बनाए रखें. राशन की दुकान पर 05 व्यक्तियों से अधिक की संख्या ना हो. साथ ही सभी 01 मीटर की दूरी में बनाए घेरे में ही खड़े हों

लॉकडाउन में पसरा सन्नाटा

लॉकडाउन के 10वें दिन कानपुर की बाजारों में सन्नाटा पसरा रहा. जिलाधिकारी की ओर से लॉकडाउन का पालन नहीं करने पर सख्त कार्रवाई करने का आदेश है. जिसके बाद से लोग अपने घरों से नहीं निकल रहे हैं. कानपुर दक्षिण में बर्रा, गुजैनी, दबौली में लॉकडाउन का असर दिखा. ग्रामीण इलाकों में भी लोग अपने घरों से नहीं निकल रहे हैं, बस किसान अपने खेत तक जाते हैं वो भी अकेले.

शाम को टूट जाता है सोशल डिस्टेंस का नियम

लॉकडाउन के 10वें दिन कानपुर में सन्नाटा पसरा दिखाई दिया. कानपुर दक्षिण के ग्रामीण इलाकों में भी लॉकडाउन की वजह से सड़कें और गलियां सूनी-सूनी नजर आती हैं. लेकिन शाम के वक्त सोशल डिस्टेंस के सारे नियम धरासाई हो जाते हैं. लोग एक-दूसरे के दरवाजे पर जमा हो जाते हैं. और देश-विदेश के हर मुद्दे पर चर्चा होती है.

6 कोरोना संदिग्ध मिले, जमात से कनेक्शन

कानपुर के नारायणा अस्पताल में गुरुवार को क्वरंटीन किए गए तबलीगी जमात के छह की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है. रिपोर्ट मिलते ही प्रशानिक अमले में हड़कंप मच गया. आनन-फानन में चारो को हैलट अस्पताल के कोविड-19 वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया.

Leave a Reply

%d bloggers like this: