1 अगस्त से क्रिकेट में जुडेगा नया नियम, जानिए इसका फायदा

खेल डेस्क. इंग्लैंड-ऑस्ट्रेलिया के शुरू होने जा रही एशेज सीरीज में सब्स्टिट्यूट खिलाड़ियों से संबंधित नया नियम लागू होगा. इस नए नियम के मुताबिक अगर कोई खिलाड़ी चोटिल होता है तो उसकी जगह दूसरा खिलाड़ी ले सकेगा.

ऐसे खिलाड़ियों को कन्कशन सब्स्टिट्यूट कहा जाएगा. जो कि बल्लेबाजी, गेंदबाजी और विकेटकीपिंग भी कर सकता है. हालांकि कन्कशन सब्स्टिट्यूट को मैदान पर उतारने का अंतिम फैसला मैच रेफरी ही करेंगे.

अभी तक सब्स्टिट्यूट खिलाड़ी को केवल मैदान पर फील्डिंग करने छूट दी जाती है. नया नियम लागू होने के बाद किसी किसी के चोटिल होने पर बल्लेबाज और तेज गेंदबाज में किसी को भी शामिल किया जा सकेगा.

आईसीसी की वार्षिक कॉन्फ्रेंस में गुरुवार को यह नियम लागू किया गया. इस नियम को इंटरनेशनल क्रिकेट के सभी फॉर्मेट और फर्स्ट क्लास क्रिकेट में लागू किया जाएगा. अभी इसे दो साल के लिए ही लागू किया गया है.

इसके बाद रिव्यू के आधार पर ही इस नए नियम को आगे बढ़ाया जाएगा. आईसीसी ने कहा कि कन्कशन सब्स्टिट्यूट पर निर्णय टीम मेडिकल रिप्रेजेंटेटिव लेगा. जिस पर आखिरी फैसला मैच का रेफरी करेगा.

आईसीसी की बैठक में कन्कशन सब्स्टिट्यूट सिर्फ टेस्ट में लागू करने की चर्चा हो रही थी, लेकिन आखिरी में इसे सभी फॉर्मेट में लागू करने के फैसले पर सहमति बन गई. इसके साथ ही इस नियम को महिला क्रिकेट में भी लागू किया जाएगा.

जानें नए नियम से खेल में क्या बदलाव होगा

अगर कोई बल्लेबाज या गेंदबाज चोटिल होता है तो वह मैदान से बाहर चला जाता है. उसकी जगह कन्कशन सब्स्टिट्यूट नियम के लागू होने के बाद मैदान पर आया खिलाड़ी बल्लेबाजी या गेंदबाजी करेगा.

इस नियम के आने के बाद टीम को यह फायदा होगा कि कोई भी चोटिल खिलाड़ी मैदान के बाहर जाता है तो 15 सदस्यीय टीम में शामिल कोई खिलाड़ी उनकी जगह बल्लेबाजी या गेंदबाजी करने के लिए उतर सकता है.

इस नियम में एक पेंच यह है कि अगर कोई तेज गेंदबाज मैदान के बाहर जाता है तो उसकी भरपाई के लिए तेज गेंदबाज को ही बुलाया जाएगा. तेज गेंदबाज के चोटिल होने पर कोई स्पिनर या बल्लेबाज उनकी जगह नहीं ले सकेगा.

Leave a Comment

%d bloggers like this: