मेरे जलने की वजह से कम से कम लोग मेरा RAPE तो नहीं करेंगे…
  • मेरठ की एक महिला ने कुछ दिनों पहले खुद को आग लगा ली थी
  • पीड़िता ने कहा, ‘काश मैं मर गई होती. कोई भी इस तरह की प्रताड़ना से नहीं गुजरना चाहता

नई दिल्ली. हमारे देश में हमेशा औरतों को पूजनीय माना जाता है. लेकिन हम अक्सर सुनते हैं कि फलां जगह महिला के साथ बलात्कार हो गया तो कहीं उसका सामूहिक रेप किया है. दिन हो या रात औरत तो कहीं भी सुरक्षित नहीं है. हाल ही में हुए अलवर रेप ने पूरे देश को झकझोर कर रख दिया है.

जिस समय देश में ‘बेटी पढ़ाओ बेटी बढ़ाओ’ जैसे नारे को हर ओर सुनाई देता है. तब इस महिला की कहानी एक बार फिर हमें जमीनी हकीकत दिखाती है.

ऐसा ही एक मामला यूपी के मेरठ से सामने आया है. मेरठ की एक महिला ने कुछ दिनों पहले खुद को आग लगा ली थी. और उसने ये कदम बहुत मजबूर होकर उठाया होगा. जिसके बाद वो तिल तिल मर रही है. वो महिला आज दिल्ली के एक हॉस्पिटल में एडमिट है.

काश मैं मर गई होती- अखबार को दिए बयान में उस पीड़िता ने कहा, ‘काश मैं मर गई होती. कोई भी इस तरह की प्रताड़ना से नहीं गुजरना चाहता. लेकिन मेरे जलने की वजह से कम से कम लोग मेरा रेप नहीं करेंगे.’

उत्तर प्रदेश के हापुड़ में बीती 28 अप्रैल को खुद को आग लगा लेने वाली महिला दिल्ली के एक निजी अस्पताल में मौत से जंग लड़ रही है. वो बेहद तकलीफ में हैं. लेकिन इस दर्द में भी वे अपने साथ हुए अमानवीय व्यवहार को नहीं भूली हैं. महिला का कहना है कि कम से कम जल जाने के बाद अब उसका गैंगरेप कोई नहीं कर पाएगा.

पिता ने बेच दिया था अखबार के मुताबिक सुनीता बताती हैं, ‘मेरे पिता ने 2009 में मेरी शादी कर दी. तब में सिर्फ 14 साल की थी. मेरा पति उम्र में काफी ज्यादा था. उसने कुछ ही महीनों में मुझे छोड़ दिया.’ रिपोर्ट के मुताबिक पति द्वारा छोड़े जाने के कुछ ही हफ्तों बाद सुनीता को उनके पिता ने महज 10,000 रुपये में बेच दिया.

पति ने दोस्तों से कराया बलात्कार- उन्होंने बताया, ‘मेरा दूसरा पति बहुत बुरा था. उसने अपने दोस्तों से मेरा बलात्कार कराया. लोगों को इसका पता लगा तो उन्होंने समझा कि मैं कमजोर हूं और ‘उपलब्ध’ हूं. मेरा 20 से ज्यादा लोगों ने रेप किया है और तेजाब फेंकने की धमकी दी.’

पुलिस से मिली निराशा- महिला ने कहा कि मैंने कई बार पुलिस में शिकायत भी दर्ज कराई लेकिन हर बार यही कहा गया कि ‘जांच की जा रही है’. अक्टूबर 2018 में मैंने शिकयत की थी लेकिन अप्रैल 2019 तक भी FIR दर्ज नहीं की गई. पुलिस के इस रवैये से परेशान महिला ने जिंदगी से हार मान ली और पिछले महीने खुद को आग के हवाले कर दिया था.

क्या है मामला?
अस्पताल में भर्ती महिला ने 28 अप्रैल को यूपी स्थित अपने घर में खुद को आग लगा ली थी. इसके बाद महिला की एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गयी थी जिसमें महिला ने अपनी कहानी बयान की थी.

वीडियो में महिला ने खुद को विधवा बताया था और दावा किया था कि उसके पिता ने ही उसे सिर्फ 10 हज़ार रुपए में बेच दिया था. इसके बाद कई बार उसका गैंगरेप भी हुआ.

Trending Tags- Rape Case |Crime News| Up News| Aaj Ka Samachar

%d bloggers like this: