इंसानियत फिर हुई शर्मशार ,मरी हुई बेटी के शव के पास बैठी रही असहाय मां, संक्रमण के डर से पड़ोसियों ने बंद कर दिया था दरवाजा

(file photo)
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

कोलकाता. पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में लॉक डाउन के बीच एक दिल दहलाने वाला मामला प्रकाश में आया है. बेटी की मौत के बाद मां उसके शव के पास असहाय तौर पर बैठी रही और पड़ोसियों ने कोरोना संक्रमण फैलने के डर से बाहर से दरवाजा बंद कर दिया था. हालांकि बाद में सूचना पाकर टाला थाने की पुलिस मौके पर जा पहुंची और युवती के अचेत शरीर को आर.जी.कर अस्पताल ले जाया गया जहां मौत की पुष्टि हुई. घटना एक नंबर बोरो की है.

चेयरमैन तरुण साहा ने बताया कि गुरुवार देर शाम एक लड़की की मौत की सूचना उन्हें मिली थी. उसके बाद काफी देर तक जब उसकी मां बाहर नहीं निकली तब पता चला कि पड़ोसियों ने बाहर से दरवाजा बंद कर दिया है. तुरंत पुलिस को सूचना दी गई. पुलिस की टीम भी मौके पर पहुंची. दरवाजा खोलने पर पता चला कि वह लड़की पिछले तीन साल से चल फिर नहीं पाती थी क्योंकि बीमार थी. गुरुवार को अचानक उसने दम तोड़ दिया. लॉक डाउन की वजह से सबकुछ बंद था इसलिए मां को समझ में नहीं आ रहा था कि क्या करें. असहाय तरीके से बेटी के शव के पास बैठी रही. इधर पड़ोसियों को जब मौत की भनक लगी तो उन्हें संदेह हुआ कि शायद कोरोना से मौत हुई होगी इसलिए दरवाजा बंद कर दिया ताकि संक्रमण न फैले.

पुलिस घटना की जांच में जुट गई है. शव का पोस्टमार्टम कराया जा रहा है. इसकी रिपोर्ट शुक्रवार शाम तक आ जाएगी. इससे इस बात की जानकारी मिल सकेगी कि लड़की की मौत कैसे हुई है.

हिन्दुस्थान समाचार/ओम प्रकाश