इनकम टैक्‍स ने जारी किया ITR फॉर्म, फाइल करते समय न करें ये 4 गलतियां

  • अगर आप खुद आईटीआर फाइल करने की सोच रहे हैं तो उससे पहले आपको कुछ ऐसी बाते हैं जिनके बारे में जान लेना जरूरी है
  • आपको ऐसी ही 5 बातों के बारे में बताने जा रहे हैं जिनपर आपको विशेष ध्यान देना हैं

नई दिल्ली.वित्‍त वर्ष 2018-19 समाप्‍त हो चुका है और नया वित्त वर्ष शुरू हो चुका है. ऐसे में वित्‍त वर्ष 2018-19 के लिए इनकम टैक्‍स रिटर्न फाइल करने का समय आ चुका है. इसके लिए में इनकम टैक्‍स डिपार्टमेंट की ओर से फॉर्म भी जारी किए जा चुके हैं.

अगर आप खुद आईटीआर फाइल करने की सोच रहे हैं तो उससे पहले आपको कुछ ऐसी बाते हैं जिनके बारे में जान लेना जरूरी है. ताकि आप गलतियां न करें. आज हम आपको ऐसी ही 5 बातों के बारे में बताने जा रहे हैं जिनपर आपको विशेष ध्यान देना हैं.

ITR भरते समय इन बातों का रखे ध्यान-

अक्सर कुछ लोग आईटीआर फाइल करते समय अपनी इमकम के कुछ सोर्स के बारे में जानकारी नहीं देते हैं. या फिर वो फॉर्म में ये जानकारी देना जरूरी नहीं समझते हैं.मगर आपको आईटीआर भरते समय अपनी सारी इनकम और इनकम सोर्स जैसे सेविंग अकाउंट और फिक्स्ड डिपॉजिट के बारे में जानकारी देनी होती है.

फॉर्म में भरे सही –

यदि आप अपने इनकम टैक्‍स रिटर्न फॉर्म में नाम, पता, मोबाइल नंबर, ईमेल, बैंक डिटेल और पैन कार्ड की जानकारी सही-सही नहीं भरते हैं तो इसके लिए भी इनकम टैक्‍स डिपार्टमेंट आपको नोटिस भेज सकता है. इतना ही नहीं गलत जानकारी की वजह से आपका रिफंड भी लटक सकता है.

समय से भरे अपना फॉर्म-

अक्सर लोग बिजी होने की वजह से या फिर किसी और वजह से अपने आईटीआर फाइल करने का पूरा समय निकाल देते हैं. या फिर अंतिम तारीख का इंतजार करते हैं. अगर आप भी ऐसा करते हैं तो ऐसा न करें और समय से आईटीआर फाइल करें.क्योंकि ऐसा करना आपके लिए नुकसान दायक साबित हो सकता है.

कई बार ऐसा होता है कि अंतिम तारीख वाले दिन सरकार की वेबसाइट धीमी पड़ जाती है.या फिर किसी वजह से चल नहीं पाती है.ऐसे में फिर आप अपना आईटीआर नहीं भर पाएंगे और आपको परेशान होना पड़ेगा. आईटीआर फाइलिंग में देरी करने से आपको जुर्माना देना पड़ सकता है, जिससे आप पर अतिरिक्त बोझ पड़ता है.बता दें कि इनकम टैक्‍स रिटर्न भरने की अंतिम तारीख उन लोगों के लिए 31 जुलाई, 2019 है, जिनके खातों को ऑडिट कराने की जरूरत नहीं है.

सही फॉर्म का करे चयन-

आईटीआर भरने के लिए आपको सही फॉर्म का चुनाव करना होगा. दरअसल, आय स्रोत और अन्य डिटेल्स के हिसाब से अलग-अलग फॉर्म आते हैं. उदाहरण के लिए नौकरीपेशा लोगों को फॉर्म-1 फाइल करना होता है.

आईटीआर-2 वे लोग भरते हैं जिनकी इनकम 50 लाख से ज्यादा है. इसमें बिजनेस और प्रोफेशन से होने वाली इनकम को शामिल नहीं किया जाता है. जैसे हाउस प्रापर्टी और अन्य स्रोत से होने वाली आय इसमें आती है.

वहीं आईटीआर-3 उन लोगों और एचयूएफ (हिंदू अविभाजित परिवार) द्वारा भरा जाता है जिनकी आय सैलरी, बिजनेस, हाउस प्रॉपटी और अन्य स्रोत से होने वाली इनकम को शामिल किया गया है.

Trending Tags- Income tax return latest news in hindi, Income tax return latest update, Income tax return last date, Last date for filing income tax return for ay 2018-19, Income tax return due date, Aaj ka samachar

%d bloggers like this: