राजस्थानः सेना के दो और जवान हुए हनी ट्रैप का शिकार

जोधपुर, राजस्थान।

भारतीय सेना के दो जवान पाकिस्तानी सेना की खुफिया एजेंसी ISI के झांसे में आकर हनी ट्रैप का शिकार हो गए. पोकरण में तैनात इन दोनों सैनिकों ने सैन्य हलचल की महत्वपूर्ण जानकारियां पाकिस्तान पहुंचाई. इंटेलिजेंस ब्यूरो (IB) की जानकारी के आधार पर मिली सूचना पर सेना की खुफिया पुलिस ने दोनों सैनिकों को अवकाश पर जाने के दौरान पोकरण से जोधपुर के रास्ते में उठा लिया. 

विस्तार से पूछताछ के लिए दोनों को जयपुर ले जाया गया है. वहां सभी खुफिया एजेंसी संयुक्त रूप से पूछताछ करेगी. सूत्रों के अनुसार इनमें से एक उड़ीसा तथा एक मध्य प्रदेश का बताया जा रहा है जिनके नाम क्रमशः विचित्र कुमार और रवि कुमार होने की सूचना है.

सैन्य सूत्रों का कहना है कि भारतीय सेना की पोकरण में तैनात एक यूनिट के दो जवान हनी ट्रैप के जाल में फंस गए. इन दोनों ने पोकरण फायरिंग रेंज में सैन्य गतिविधियों की जानकारी विभिन्न माध्यमों के जरिये पाकिस्तान भेजी. आईबी को कुछ दिन पूर्व पोकरण से कुछ गोपनीय सूचनाओं के लीक होने की जानकारी मिली. 

इसके बाद आईबी ने अपना पूरा ध्यान इस क्षेत्र पर केंद्रीत किया. पड़ताल में दोनों सैनिकों के सूचनाओं को बाहर भेजने की जानकारी मिली. दोनों जवानों में एक उड़ीसा का जबकि दूसरा मध्य प्रदेश का रहने वाला है. जिनके नाम क्रमशः विचित्र कुमार और रवि कुमार है. 

ये दोनों सैनिक अपना नियत अवकाश लेकर पोकरण से रवाना हो चुके थे. इसके बाद आईबी की सूचना पर सक्रिय हुई सेना खुफिया पुलिस टीम ने दोनों को जोधपुर पहुंचने से पहले अपने कब्जे में ले लिया. 

गौरतलब है कि हनी ट्रैप में खूबसूरत महिला एजेंट्स सेना के अधिकारियों या जवानों को सोशल मीडिया के माध्यम से अपने हुस्न के जाल में फंसाती हैं और उनसे महत्वपूर्ण जानकारियां हासिल कर लेती हैं. पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी अक्सर भारतीय थल सेना, वायुसेना और नौसेना से जुड़े लोगों को हनीट्रैप में फंसाने की कोशिश करती रहती है. 

हिन्दुस्थान समाचार /सतीश

Leave a Comment

%d bloggers like this: