हिमाचल का पारा शून्य से नीचे, लाहौल-स्पीति सबसे ठंडा

शिमला, 24 जनवरी (हि.स.)। हिमाचल प्रदेश में कड़ाके की सर्दी का दौर जारी है। आधे प्रदेश का पारा माइनस में चला गया है। प्रचंड ठंड में लोगों का जनजीवन अस्त-व्यस्त है। कबायली इलाकों में तापमान के शून्य से ज्यादा नीचे पहुंचने से पानी के प्राकृतिक स्रोत जम गए हैं।

़मैदानी क्षेत्रों में भी कंपकंपाती ठंड से लोग ठिठुर रहे हैं।राज्य के पांच जिलों के छह शहरों का पारा शुक्रवार को माइनस में रिकॉर्ड किया गया। इन जिलों में लाहौल-स्पीति, किन्नौर, शिमला, कुल्लू और मंडी शामिल हैं। 

लाहौल-स्पीति जिले का मुख्यालय केलंग सबसे ठंडा रहा, जहां न्यूनतम तापमान -15 डिग्री पहुंच गया है। किन्नौर के कल्पा में न्यूनतम तापमान -5.2, मनाली में -3.6, कुफरी में -1.8, भुंतर में -0.4 और सुंदरनगर में -0.3 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड हुआ। 

इसके अलावा डलहौजी में 0.8, पालमपुर में 1.5, चंबा में 1.6, ऊना में 2.2, कांगड़ा एवं हमीरपुर में 2.8, बिलासपुर में 3, धर्मशाला में 3.6,  जुब्बड़हट्टी में 4, शिमला में 4.5, मंडी में 5 और नाहन में 8.7 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड हुआ।

मौसम विभाग ने अगले 24 घण्टों के दौरान मैदानी इलाकों में मौसम साफ रहने जबकि पर्वतीय क्षेत्रों में बर्फ़बारी का अनुमान जताया है। 26 एवं 27 जनवरी को पूरे प्रदेश में मौसम साफ रहेगा लेकिन 28 और 29 जनवरी को पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने से एक बार फिर बारिश और बर्फबारी की संभावना है।


हिन्दुस्थान समाचार/उज्ज्वल

Leave a Reply

%d bloggers like this: