बहुमुखी प्रतिभा की धनी हैं बॉलीवुड की ‘ड्रीमगर्ल’ हेमा मालिनी

hema malini
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

हेमा मालिनी बॉलीवुड की उन खूबसूरत अभिनेत्रियों में से एक हैं जिन्होंने नृत्य, अभिनय की अलावा राजनीति में भी एक मकाम हासिल किया है. बहुमुखी प्रतिभा की धनी हेमा मालिनी का जन्म 16 अक्टूबर 1948 को मद्रास की अम्मनकुड़ी जिले में हुआ था. हेमा मालिनी की मां जया चक्रवर्ती फिल्म निर्माता थीं. घर में फिल्मी माहौल होने से हेमा मालिनी का झुकाव भी फिल्मों की ओर हो गया. उन्होंने अपनी प्रारंभिक शिक्षा चेन्नई से पूरी की. 1961 में हेमा मालिनी को एक लघु नाटक ‘पांडव वनवासम’ में बतौर नर्तकी काम करने का अवसर मिला. इसके बाद वह कुछ तमिल और तेलुगु की फिल्मों में नजर आई. इसके बाद हेमा मालिनी ने बॉलीवुड का रुख किया.

हेमा मालिनी ने साल 1968 में फिल्म ‘सपनों के सौदागर’ में राजकपूर के अपोजिट काम करने का मौका मिला. इस फिल्म में हेमा के अभिनय को दर्शकों ने बहुत पसंद किया. इसके बाद हेमा मालनी ने कई यादगार और हिट फिल्में दी जिनमें प्रेम नगर, जॉनी मेरा नाम, अंदाज, सीता और गीता, शोले, रजिया सुलतान, ड्रीम गर्ल, राजा, द बर्निंग ट्रेन, बागबान आदि शामिल है. 1975 में आई फिल्म ‘शोले’ में हेमा मालिनी ने बसंती का आइकॉनिक किरदार निभाया था. उनके बसंती वाले किरदार को आज भी दर्शक भूल नहीं पाए हैं. हेमा मालिनी ने छोटे पर्दे पर प्रसारित होने वाले धारावाहिक नुपूर और मोहिनी का निर्देशन भी किया.

उन्होंने 1992 में अभिनेता शाहरुख खान को लेकर फिल्म ‘दिल आशना है’ का निर्माण और निर्देशन किया. बॉलीवुड में हेमा मालिनी ‘ड्रीमगर्ल’ के नाम से प्रसिद्ध हैं. हेमा मालिनी ने 1980 में अभिनेता धर्मेंद्र से शादी की. उनकी दो बेटियां ईशा देओल और अहाना देओल हैं. लगभल 150 से ज्यादा फिल्मों में अभिनय करने के बाद हेमा मालिनी ने राजनीति की तरफ रुख किया और 2004 में भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गई.

2014 में वह मथुरा से लोकसभा की सांसद चुनी गई. हेमा अब फिल्मों में कम ही नजर आती हैं, लेकिन स्टेज पर उन्हें परफॉर्म करते हुए अक्सर देखा जा सकता है. वह टेलीवजन पर कई विज्ञापनों में भी नजर आई हैं. वह बॉलीवुड की प्रतिभावान अदाकारा के साथ-साथ अद्भुत नृत्यांगना भी हैं. वह भरतनाट्यम में निपुण हैं. साल 2000 में फिल्मों में दिए उनके योगदान के लिए उन्हें भारत सरकार की तरफ से पद्मश्री पुरस्कार से सम्मानित किया गया.

हिन्दुस्थान समाचार/सुरभि