स्विंग गेंदबाजी के लिए भारी गेंदों का उपयोग होना चाहिए: शेन वॉर्न

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व दिग्गज स्पिन गेंदबाज शेन वार्न ने कहा कि कोरोना वायरस शटडॉउन के बाद जब क्रिकेट दोबारा शुरू होगा तो भारी गेंदों का उपयोग होना चाहिए, ताकि तेज गेंदबाजों के स्वास्थ्य को खतरा ना हो और उन्हें स्विंग भी मिल जाए. दरअसल, तेज गेंदबाज गेंद को स्विंग करवाने के लिए पसीने और लार से उसे चमकाते हैं, यह एक पारंपरिक तरीका है. लेकिन, अब स्वास्थ्य के आधार पर इस तरीके को बंद किया जा सकता है. क्योंकि इससे खिलाड़ियों में कोरोना वायरस का खतरा ज्यादा बढ़ सकता है.

स्काई स्पोर्ट्स पॉडकास्ट में वार्न ने कहा, ‘गेंद को एक तरफ से भारी क्यों नहीं किया जा सकता है, ताकि वो हमेशा ही स्विंग हो? यह एक टेप टेनिस बॉल की तरह होगा.’ उन्होंने कहा, ‘मुझे नहीं लगता कि आप इसे वसीम अकरम और वकार यूनिस जैसे कोनों में फहराना चाहेंगे, लेकिन यह विकेट गरम होने पर तेज गेंदबाजों को सपाट विकेटों पर भी स्विंग दे सकता है और दूसरे तीसरे दिन भी यह मददगार हो सकती है.’

पाकिस्तान के महान गेंदबाज वकार यूनिस और वसीम अकरम को रिवर्स स्विंग में महानता हासिल थी. रिवर्स स्विंग गेंद को एक तरफ से चमकाने और दूसरी तरफ से खुरदरी रखने से उत्पन होती है. वार्न ने कहा, ‘एक भारी गेंद से खेलने में बॉल टेम्परिंग का खतरा भी नहीं रहेगा. आपको गेंद से छेड़छाड़ की चिंता नहीं करनी चाहिए. यह बल्ले और बॉल के बीच एक अच्छी प्रतियोगिता होगी.’

ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट बॉल निर्माता कूकाबूरा का कहना है कि वे स्विंग और चमक को बढ़ाने के लिए मोम एप्लीकेटर का विकास करेंगे. वार्न ने ऑस्ट्रेलिया के लिए खेलते हुए सभी प्रारूपों में कुल मिलाकर 1001 विकेट ली है. उन्होंने 2007 में क्रिकेट को अलविदा कह दिया था.

चीन के वुहान शहर से शुरू हुए कोरोना वायरस के कारण 2.5 लाख से ज्यादा मौत हो चुकी हैं और इस महामारी के चलते दुनिया भर में अभी भी 35 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हैं. इसके चलते पूरी दुनिया में सभी खेल गतिविधियां या तो स्थगित कर दी गई हैं या फिर उन्हें रद्द कर दिया गया है.


हिन्दुस्थान समाचार/दीपेश/मोनिका

Leave a Reply

%d bloggers like this: