हाथरस मामले में कांग्रेस हमलावर, कहा- दोषियों को बचाने के बजाय पीड़ित को न्याय दिलाने का काम करे सरकार

Congress
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

नई दिल्ली, 08 अक्टूबर (हि.स.). कांग्रेस पार्टी द्वारा सोशल मीडिया पर चलाए गए अभियान ‘देश की बात’ की श्रृंखला में गुरुवार को हाथरस की बेटी के साथ हुए अन्याय के मुद्दे पर अखिल भारतीय महिला कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सुष्मिता देव ने केंद्र और उप्र सरकार को घेरा. उन्होंने कहा कि जिस तरह का व्यवहार प्रदेश सरकार और प्रशासन ने पीड़ित परिवार के साथ किया है, वह निंदनीय है. सरकार के इन कृत्यों से स्पष्ट है कि वह न्याय दिलाने के बजाय अपराधियों को बचाने का काम कर रही है.

महिला कांग्रेस की अध्यक्ष सुष्मिता देव ने गुरुवार को पत्रकार वार्ता को संबोधित करते हुए कहा कि हाथरस में हुई घटना ने देश को हिला दिया. देश की जनता सरकार से उम्मीद रखती है कि ऐसी घटनाएं कम से कम हों और पीड़ित परिवार को न्याय मिले लेकिन वहां होता कुछ और ही दिखा.

कांग्रेस नेता ने कहा कि हाथरस की घटना के बाद देश में आक्रोश है, क्योंकि उत्तर प्रदेश सरकार ने पीड़ित बच्ची को अच्छी चिकित्सा सेवा नहीं दिलवाई. न ही सरकार ने पीड़िता को होश आने से पहले फॉरेंसिक सबूत जुटाए. और तो और, जब बेटी सफरदरजंग अस्पताल में गुजर गई. बेटी के शव को अचानक बिना किसी को बताये उसके गांव ले जाया गया और परिजनों की अनुमति के बिना उसका अंतिम संस्कार कर दिया गया.

सुष्मिता देव ने केंद्र और राज्य सरकार पर न्याय के नाम पर पीड़ित परिवार को ही डराने-धमकाने का आरोप लगाते हुए कहा कि कोई बताएगा कि किस वजह से राहुल और प्रियंका गांधी को पीड़ित परिवार से मिलने से रोका गया. इसका एक ही कारण था कि मुख्यमंत्री इस मामले को दबाना चाहते थे.

आखिर कांग्रेस के नेताओं की गलती क्या है कि वो पीड़ित परिवार को न्याय मिले इसके लिए प्रयास कर रहे हैं. अगर गलत का विरोध करना और दोषियों को सजा दिलाने के लिए कोशिश करना वर्तमान सरकार की नजर में गलत है तो कांग्रेस पार्टी ऐसी गलती लगातार करेगी.

महिला कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि उत्तर प्रदेश में हाथरस ही एक मात्र घटना नहीं है बल्कि ऐसी कई घटनाएं हुईं. इनमें उन्नाव की घटना भी शामिल है, जिसमें भाजपा विधायक संलिप्त थे. ऐसे में सरकार को स्पष्ट तौर पर कड़े फैसलों के साथ न्याय के लिए आगे आना चाहिए.

उन्होंने कहा कि हाथरस की बेटी के साथ जो दरिंदगी हुई, उसके विरुद्ध महिलाएं, आम जनता, छात्र सब एकजुट होकर दोषियों पर कार्रवाई के साथ न्याय मांग रहे हैं. वहीं पीड़ित परिवार की मांग पर प्रियंका गांधी ने सरकार से न्यायिक जांच की मांग की थी. इस मांग को मानने के बजाय सरकारी अफसर और डीएम ने पीड़िता के परिवार को ही धमकाया. ऐसे में कांग्रेस पार्टी उक्त अधिकारी और डीएम को भी बर्खास्त करने की मांग करती है.

हिन्दुस्थान समाचार/आकाश/बच्चन