हरियाणा चुनावः बीजेपी और कांग्रेस पर बरसीं मायावती, लगाया पूंजीपतियों को लाभ पहुंचाने का आरोप

झज्जर, हरियाणा।

हरियाणा की जाटलैंड में हुंकार भरते हुए बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने जाटों को रिझाने का प्रयास किया है. उन्होंने कहा कि केवल बीएसपी ही ऐसी पार्टी है जिसने सबसे पहले जाट आरक्षण का समर्थन किया था.

बेरी में हरियाणा के विभिन्न हलकों के उम्मीदवारों के समर्थन में चुनावी रैली को सम्बोधित करने हुए मायावती ने बीजेपी और कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि जब से देश आजाद हुआ है, उसके बाद से बीजेपी और कांग्रेस दोनों पार्टियों ने पूंजीपतियों के हित में ही योजनाएं बनाकर उन्हें लाभ पहुंचाया है. 

मायावती ने कहा कि जब ये पार्टियां लोस और विस चुनाव लड़ती हैं तो पूंजीपति इन्हें मदद पहुंचाते हैं. बाद में यही पार्टियां सत्ता में आने के बाद पूंजीपतियों को लाभ पहुंचाती हैं.

मायावती ने कहा सिर्फ बीएसपी ही एक ऐसी पार्टी है जो गरीब और दलित के अलावा, किसान, मजदूरों को साथ लेकर चुनाव लड़ती है, और सत्ता में आती है तो इन्हीं के हित में योजनाएं बनाती है. 

उन्होंने कहा कि जिस तरह से मौजूदा विधानसभा चुनाव में बीएसपी को हरियाणा के लोगों का समर्थन मिल रहा है, उससे साफ है कि चुनावी परिणाम बीजेपी के पक्ष में होंगे.

उन्होंने कहा कि हरियाणा में बीएसपी की सरकार बनने के बाद गरीब, कमेरा, किसान, मजदूर हित में कई कल्याणकारी योजनाएं बनाई जाएगीं. बेरोजगार युवकों के लिए सरकारी नौकरियों का स्थाई प्रबन्ध किया जाएगा. 

मायावती ने रैली में मौजूद लोगों से बीजेपी, कांग्रेस और अन्य पार्टियों के किसी भी चुनावी घोषणा पत्र पर ध्यान न देने की अपील की. उन्होंने कहा कि ये पार्टियां केवल लोकलुभावने वायदे कर सत्ता मिलते ही उन्हें भूल जाती है. 

उन्होंने कहा कि बीएसपी एक ऐसी पार्टी है जो कभी भी अपना चुनावी घोषणा पत्र जारी नहीं करती. क्योंकि बीएसपी केवल काम में विश्वास करती है और सर्व समाज के हित की बात सोचती है.

हिन्दुस्थान समाचार/प्रथम

Leave a Comment