देश की पहली कोरोना टेस्टिंग मोबाइल लैब लॉन्च, दूर-दराज के इलाकों में होगी तैनात

yyy
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

नई दिल्ली. देश में बढ़ते मरीजों की संख्या पर कैसे लगाम लगे और लोगों का ज्यादा से ज्यादा टेस्ट हो इसके लिए सरकार ने बड़ा कदम उठाया है. COVID-19 परीक्षण के लिए भारत की पहली मोबाइल लैब शुरू की गई है.

देश में हर दिन तेजी से आ रहे कोरोना (Corona Cases) मामलों के बीच भारत ने अपनी टेस्टिंग की क्षमता भी बढ़ा दी है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन (Dr Harsh Vardhan) ने गुरुवार को देश की पहली कोरोना टेस्टिंग मोबाइल लैब (Covid 19 Testing Mobile Lab) लॉन्च की है.

देश मेंअपनी तरह की पहली लैब- ये दूर-दराज के इलाकों में तैनात होगी. देश में ये अपनी तरह की पहली लैब है. ये प्रतिदिन 25 RT-PCR टेस्ट, 300 ELISA टेस्ट कर सकती है. इस दौरान डॉ हर्षवर्धन ने कहा कि हमारे देश में फरवरी में सिर्फ एक ही लैब थी, लेकिन आज हमारे पास 953 लैब हैं.

दूर-दराज के इलाकों में होगी कोरोना टेस्टिंग- इनमें से करीब 700 लैब सरकारी हैं, ऐसे में अब देश में कोरोना वायरस के टेस्ट (Corona Virus Test) ज्यादा होंगे. दूर-दराज के क्षेत्रों में टेस्ट की सुविधाओं को सुनिश्चित करने के लिए ऐसे इंनोवेशन विकसित किए गए हैं.

ICMR की ओर से लक्ष्य रखा गया है कि जून के अंत तक देश में रोज करीब तीन लाख टेस्ट किए जाएं. अभी रोज करीब डेढ़ लाख टेस्ट ही हो रहे हैं.

आंध्रप्रदेश की कंपनी ने इसे आई-लैब नाम दिया- थर्मल स्क्रीनिंग, वेंटिलेटर, कोविड-19 टेस्ट डिवाइस, 3 डी मास्क वगैरह बनाने वाली आंध्र प्रदेश की कंपनी एएमटीजे ने इसे आई-लैब का नाम दिया है.

एलाइजा टेस्टिंग की होगी सुविधा- भारत सरकार के जैव प्रौद्योगिकी विभाग के सहयोग से इसे तैयार किया गया है. इसमें आरटीपीसीआर जांच के साथ साथ एलाइजा टेस्टिंग की सुविधा भी होगी.

गृह मंत्री ने की समीक्षा बैठक
केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों के मद्देनजर एक बैठक में दिल्ली के अलावा नोएडा, गुरुग्राम और गाजियाबाद समेत राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में कोविड-19 संबंधी हालात की समीक्षा की.

देश में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले लगातार बढ़ रहे हैं. संक्रमण का आंकड़ा जहां साढ़े तीन लाख के पार हो गया है, वहीं मृतकों की संख्‍या भी 12 हजार के पार हो गई है. संक्रमण के रोज सामने आ रहे नए आंकड़े नया रिकॉर्ड बना रहे हैं. गुरुवार को एक बार फिर यहां 12 हजार से अधिक रिकॉर्ड नए मामले सामने आए.