घरेलू उड़ानों के लिए प्लान तैयार, रूट-किराया सब कुछ तय

कोरोना महामारी के कारण तकरीबन 2 महीने बाद धीरे-धीरे फिर से सारी सुविधाओं को बहाल किया जा रहा है. इसी कड़ी में एक बार फिर से घरेलू उड़ानों को 25 मई से शुरू होने जा रही है. हालांकि इस दौरान केंद्र सरकार द्वारा कई कड़े नियम लागू किए जाएंगे, जिनका पालन करना अनिवार्य होगा.

केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप पुरी ने इसको लेकर आज प्रेस कॉन्फ्रेंस की. सरकार की तरफ से टिकटों के दाम की अधिकतम सीमा तय कर दी गई, जिसका पालन सभी एयरलाइंस को करना होगा. केंद्रीय मंत्री ने साफ किया कि सभी यात्रियों को स्क्रीनिंग करानी होगी.

हरदीप पुरी ने कहा कि यात्रा करने वाले के मोबाइल में आरोग्य सेतु एप पर हरा निशान दिखना चाहिए, यदि ऐसा नहीं हुआ तो उन्हें प्रवेश नहीं दिया जाएगा. हालांकि 14 साल से कम उम्र के बच्चे के लिए आरोग्य सेतु एप अनिवार्य नहीं है. उन्होंने कहा कि यात्रियों के लिए हवाईअड्डा टर्मिनल इमारत में प्रवेश करने से पहले थर्मल जांच क्षेत्र से गुजरना अनिवार्य होगा.

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल रखा जाएगा, लेकिन इसके लिए जहाज के अंदर बीच की सीट को खाली रखने का कोई नियम नहीं है. भीड़ को कम करने के लिए चेक इन प्वाइंट को पहले से खोल दिया जाएगा.

घरेलू उड़ान को लेकर मंत्री ने कहा कि मेट्रो टू मेट्रो शहरों में कुछ नियम होंगे, मेट्रो टू नॉन मेट्रो शहर के लिए अलग नियम होंगे. मेट्रो शहरों में दिल्ली, मुंबई, कोलकाता, चेन्नई जैसे शहर शामिल होंगे. केंद्रीय मंत्री ने बताया कि शुरुआती तौर पर एयरपोर्ट का एक तिहाई हिस्सा ही शुरू होगा, किसी भी फ्लाइट में खाना नहीं दिया जाएगा. सिर्फ 33 फीसदी विमानों को उड़ान की इजाजत दी गई है.

Leave a Reply

%d bloggers like this: