सरकार का बड़ा ऐलान, 2020 से भरना होगा ये नया रिटर्न फॉर्म
  • 5 करोड़ रुपए से ज्यादा के टर्नओवर वाले कारोबारी अभी तक जीएसटीआर-1 फॉर्म भरते हैं.लेकिन अब एनएक्स-1 भरना पड़गा
  • अब सरकार के नए नियमों के तहत करदाताओं को नया जीएसटी आरईटी-1 फार्म भरना होगा

नई दिल्ली. मोदी सरकार अपना दूसरा कर्यकाल शुरू कर चुकी है.इस कर्यकाल में मोदी सरकार तेजी से बदलाव करने में लगी हुई है. हाल ही में मोदी सरकार नें रिटर्न फॉर्म में एक बड़ा बदलाव किया है. दरअसल अक्टूबर से 5 करोड़ रुपए से ज्यादा के टर्नओवर वाले कारोबारियों को अब नया रिटर्न फॉर्म जीएसटी एएनएक्स-1 भरना होगा.

सरकार करेगी बड़ा बदलाव-

5 करोड़ रुपए से ज्यादा के टर्नओवर वाले कारोबारी अभी तक जीएसटीआर-1 फॉर्म भरते हैं.लेकिन अब एनएक्स-1 भरना पड़गा. ये फॉर्म 1.5 से लेकर 5 करोड़ रुपए तक के टर्नओवर वाले कारोबारियों को भरना है. ये रिटर्न फॉर्म कारोबारियों को जनवरी 2020 से भरना होगा.

इन कारोबारियों को मिलेगा तोहफा-

सरकार ने 1.5 करोड़ से कम के टर्नओवर वाले छोटे कारोबारियों को सरकार ने बड़ा तोहफा दिया है. दरअसल इन कारोबारियों को अब रिटर्न के लिए एक ही फॉर्म भरना होगा.पहले ये कारोबारी एक साल में 4 फॉर्म भरते थे.

अब सरकार के नए नियमों के तहत करदाताओं को नया जीएसटी आरईटी-1 फार्म भरना होगा. आपको बता दें कि इस फॉर्म को 3 हिस्सों में बांटा गया है. जिसमें जीएसटी आरईटी-1 सबसे अहम होगा.वहीं जीएसटी एएनएक्स-1 और एएनएक्स-2 एनेक्सर होगें.

3 महीनों के लिए ट्रायल पर होगें फॉर्म-

मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक इस साल जुलाई में कारोबारियों की साहूलियत के लिए नया रिटर्न फॉर्म उपलब्ध कराया जा सकता है.इसमें एएनएक्स-1 और एएनएक्स-2 शामिल है.दरअसल इन नए फॉर्म को लाने से पहले सरकार इन फॉर्म को परीक्षण के लिए मार्केट में लाएगी.
सरकार जुलाई से अक्टूबर 2019 के बीच 3 महीनों के लिए नए रिटर्न सिस्टम (एएनएक्स-1 और एएनएक्स-2) को ट्रायल रन के लिए लेकर आएगी.

आपको बता दें कि परीक्षण का कर देनदारी या इनपुट टैक्स क्रेडिट पर बैक एंड पर कोई असर नहीं पड़ेगा. परीक्षण के दौरान करदाताओं को फॉर्म जीएसटीआर-1 और फॉर्म जीएसटीआर-3बी के जरिए बिक्री और टैक्स की जानकारी देते रहना होगा. रिटर्न न भरने वालों के खिलाफ जीएसटी एक्ट के तहत कार्रवाई होगी.

इस कारोबारियों के लिए होगा ये फॉर्म-

मौजूदा समय में रिटर्न के लिए कारोबारियों को जीएसटी आर-1 और जीएसटी आर-3 बी फॉर्म को भरते हैं. अब इन फॉर्म की जगह सरकार तीन फॉर्म लेकर आएगी. जीएसटी आर-1 की जगह एएनक्स-1 और जीएसटी आर 3बी की जगह आएगा आरईटी-1.एएनक्स-2 तीसरा फार्म है. सरकार ने अभी तक इन फॉर्म को लागू नहीं किया है.वो इस पर अभी विचार ही कर रही है.

जानकारों के मुताबिक एएनएक्स-1 फॉर्म सप्लायर यानी माल बेचने वाले कारोबारियों के लिए होगा. ऐसे कारोबारी बेचे माल की इनवाइस को इस रिटर्न के साथ लगाएंगें. एएनएक्स-2 में बेचे गए माल की सारी जानकारी देने होगी.

Trending Tags – GST | GST Return Form | Business News | Economy News | Aaj ka Smachar

3 thoughts on “सरकार का बड़ा ऐलान, 2020 से भरना होगा ये नया रिटर्न फॉर्म”

Leave a Comment

%d bloggers like this: